गूगल ने सोमवार को अपने सोशल नेटवर्क ‘ गूगल प्लस’ (गूगल+) को बंद करने की घोषणा कर दी. समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक गूगल ने यह कदम उस वाकये के बाद उठाया, जिसमें इस सोशल नेटवर्किंग साइट से आए बग ने लाखों लोगों के निजी डाटा में सेंध लगा दी थी.

हालांकि, गूगल ने कहा है कि सोशल नेटवर्क साइट बंद करने की घोषणा से पहले उस बग को ठीक कर लिया गया था. गूगल का कहना है कि बग के चलते जो डाटा लीक हुआ है, उसके किसी दुरुपयोग की अब तक कोई सूचना नहीं मिली है.

अमेरिका की दिग्गज कंपनी ने यह भी कहा कि उपभोक्ताओं के लिए ‘गूगल प्लस ’ का सूर्यास्त हो गया है. हालांकि कंपनियों के लिए अभी यह चलता रहेगा.

गूगल प्लस फेसबुक जैसा सोशल नेटवर्क था, लेकिन यह फेसबुक को चुनौती देने में विफल रहा. गूगल के एक प्रवक्ता ने ‘गूगल प्लस’ को बंद करने की मुख्य वजह बताते हुए कहा कि गूगल प्लस के प्रबंधन में काफी चुनौतियां थीं. इसे ग्राहकों के बड़े पैमाने पर इस्तेमाल के लिए तैयार किया गया था, लेकिन इसका इस्तेमाल बहुत कम था. यही इसके बंद होने की वजह है.