यौन उत्पीड़न के आरोपों से घिरे फिल्मकार विकास बहल ने फिल्म प्रोडक्शन व डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी फैंटम फिल्म्स के अपने पूर्व साथियों अनुराग कश्यप और विक्रमादित्य मोटवानी को कानूनी नोटिस भेजा है. पीटीआई-भाषा के मुताबिक नोटिस में विकास बहल ने अनुराग और विक्रमादित्य पर उन्हें बदनाम करने का आरोप लगाया है.

पिछले साल फैंटम फिल्म्स की एक महिला कर्मचारी ने आरोप लगाया था कि 2015 में गोवा की एक यात्रा के दौरान बहल ने उसके साथ गलत तरीके से बर्ताव किया था. हाल ही में एक लेख में शिकायती महिला की जानकारी सार्वजनिक होने से पहले कश्यप और मोटवानी ने बयान जारी कर अपना प्रोडक्शन हाउस बंद करने की घोषणा की थी. इसी को लेकर बहल ने नोटिस जारी किया है और अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को पूरी तरह खारिज किया है.

नोटिस में बहल पर लगे आरोपों के जवाब में कहा गया है, ‘यह इरादतन किया गया है. कथित घटना और कथित पीड़िता के बारे में तीन साल तक चुप रहने के बाद आप (अनुराग कश्यप और विक्रमादित्य मोटवानी) अब सामने आए हैं और पीड़िता का समर्थन कर रहे हैं. यहां यह बताना जरूरी है कि कथित पीड़िता ने खुद कहा कि आपको अचानक आया नैतिक ज्ञान फर्जी है और इसके पीछे व्यक्तिगत एजेंडा है.’ इसके अलावा बहल ने नोटिस में (पूर्व साथियों से) बिना शर्त माफी मांगने और सोशल मीडिया पर उनके बयानों को हटाने को कहा है.

नोटिस में उन्होंने कश्यप और मोटवानी पर आरोप लगाया कि फैंटम फिल्म्स को बंद करने के लिए इन दोनों ने उन (विकास बहल) पर लगे आरोपों का इस्तेमाल किया. बहल के मुताबिक उनके और बाकी साझेदारों के बीच रचनात्मक और पेशेवर मतभेद हो गए थे जिसके चलते वे पिछले कुछ महीने से प्रोडक्शन हाउस को बंद करने की बात कर रहे थे.