अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप का कहना है कि यौन उत्पीड़न का आरोप लगाने वाली महिलाओं को सुने जाने और उनका समर्थन किये जाने की आवश्यकता है, लेकिन पुरुषों को भी यह मौका मिलना चाहिए. उन्होंने कहा कि जब ऐसे आरोप लगते हैं तो ठोस सबूत की आवश्यकता होती है और आरोप लगाने वालों को सबूत दिखाने चाहिए.

पीटीआई के मुताबिक मेलानिया ट्रंप ने यह बात अपनी केन्या यात्रा के दौरान एक साक्षात्कार में कही. उनसे पूछा गया था कि क्या वे ‘मी टू अभियान’ का समर्थन करती हैं. मेलानिया ने कहा, ‘मैं उन महिलाओं का समर्थन करती हूं और उन्हें सुना जाना आवश्यक है. हमें उनका समर्थन करना चाहिए. सिर्फ महिलाओं को ही नहीं पुरुषों को भी यह मौका मिलना चाहिए.’

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर बीते वर्षों में कई महिलाओं ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है. इस पर मेलानिया ने कहा कि यह पुरुषों के लिये एक ‘भयावह’ दौर है जहां उनके खिलाफ बरसों पुराने आरोप निकलकर सामने आ रहे हैं. यह टिप्पणी उन्होंने ब्रेट कैवेनॉ के संदर्भ में की थी. हाल ही में अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट के जज बने ब्रेट कैवेनॉ पर दो महिलाओं ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था