दिल्ली में 19 साल के एक लड़के ने अपने माता-पिता और छोटी बहन की सिर्फ इसलिए हत्या कर दी क्योंकि वे उसे पढ़ाई के लिए बार-बार टोकते थे. माता-पिता अक्सर डांटते भी थे, जिससे वह काफी परेशान हो गया था. द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने दावा किया है कि 19 वर्षीय आरोपित सूरज ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया है.

बताया जा रहा है कि बुधवार तड़के तीन बजे सूरज ने अपने पिता मिथिलेश वर्मा (44) पर चाकू से आठ वार किए. इसके बाद उसने दूसरे कमरे में सो रही अपनी मां और नाबालिग बहन की भी इसी तरह हत्या कर दी. हत्या के बाद सूरज काफी देर तक लाशों के पास ही बैठा रहा और झूठी कहानी सोचता रहा. खबर के मुताबिक सुबह होने पर उसने अपने एक पड़ोसी को बताया कि उसके घर में दो चोरों ने घुसकर परिवार के लोगों की हत्या कर दी है. उसने अपने शरीर में भी हल्के वार किए ताकि किसी को शक न हो. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और उसने सूरज से पहले पूछताछ शुरू की. वह ज्यादा देर तक अपनी बनाई कहानी पर कायम नहीं रह पाया और आखिर में उसने गुनाह कबूल कर लिया.

सूरज ने पुलिस को बताया कि उसने तीन साल पहले ख़ुद के अपहरण का ड्रामा भी किया था. उसके बाद से परिवारवालाें का उससे व्यवहार और बिगड़ गया था. सूरज गुड़गांव के एक कॉलेज में सिविल इंजिनियरिंग की पढ़ाई कर रहा है. पुलिस की मानें तो पहले उसने आत्महत्या की योजना बनाई थी. लेकिन बाद में उसने अपने घरवालों को ही सजा देने का मन बना लिया.