हरियाणा की एक स्थानीय अदालत ने आज खुद को बाबा कहने वाले रामपाल को हत्या के दो मामलों में दोषी करार दिया है. पीटीआई-भाषा के मुताबिक हिसार के अतिरिक्त जिला व सत्र न्यायाधीश डीआर चालिया ने रामपाल और उसके कुछ अनुयायियों को इन मामलों में दोषी ठहराया है. इन सभी दोषियों को 16 और 17 अक्टूबर को सजा सुनाई जाएगी.

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक अदालत के फैसला सुनाने से पहले जिले की सुरक्षा कड़ी कर दी गई और निषेधात्मक आदेश जारी कर दिए गए. अधिकारियों ने कहा कि कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए उन्होंने कई कदम उठाए हैं. इसके तहत जिले में करीब 2,000 पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है.

बता दें कि हिसार के बरवाला कस्बे में बने रामपाल के सतलोक आश्रम से 19 नवंबर, 2014 को चार महिलाओं और एक बच्चे का शव मिला था. उसके बाद स्वयं-भू बाबा और उसके 27 अनुयायियों पर हत्या और लोगों को गलत तरीके से बंधक बनाने का आरोप लगा था. बाबा पर अपने अनुयायियों को रक्षात्मक ढाल की तरह इस्तेमाल करने का भी आरोप था. हालांकि पिछले साल अगस्त में अदालत ने उसे इस आरोप का दोषी नहीं ठहराया था.