बिहार में एक कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तरफ एक युवक द्वारा चप्पल फेंके जाने का मामला सामने आया है. पीटीआई के मुताबिक यह घटना पटना में हुई जहां सत्ताधारी जदयू ने लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जयंती के अवसर पर छात्र समागम का आयोजन किया था. इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ मंच पर जदयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह और अन्य कई अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे.

चंदन नाम के इस युवक को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है. पटना के पुलिस उपाधीक्षक सुरेश कुमार ने बताया कि चंदन औरंगाबाद जिले का रहने वाला है. उनके मुताबिक वह मानसिक रूप से विक्षिप्त दिख रहा है. पत्रकारों ने जब इस बारे में उससे सवाल किया तो उसने कहा, ‘मैंने भेदभावपूर्ण आरक्षण नीति के खिलाफ विरोध दर्ज कराने के लिए ऐसा किया.’

विरोध जताने के लिए नेताओं की तरफ जूता-चप्पल फेंके जाने का यह कोई पहला मामला नहीं है. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से लेकर पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जार्ज बुश तक ऐसी घटनाओं की एक लंबी लिस्ट है.