‘मी टू’ अभियान के तहत केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर पर लगे यौन शोषण के आरोपों को लेकर केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी का बयान आया है. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक गुरुवार को मीडिया द्वारा इस बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा है, ‘इस मुद्दे पर संबंधित व्यक्ति (एमजे अकबर) का बोलना ही उचित रहेगा, क्योंकि उस घटना के वक्त मैं वहां मौजूद नहीं थी. ऐसे में मैं इस पर कुछ नहीं कह सकती.’

इस दौरान स्मृति ईरानी आगे कहा, ‘यह अच्छी बात है कि मीडिया उन महिला पत्रकारों के समर्थन में खड़ा ​है जिन्होंने केंद्रीय मंत्री पर शोषण के आरोप लगाए हैं.’ ईरानी के मुताबिक, ‘महिलाओं के लिए शोषण संबंधी बात कह पाना बेहद कठिन होता है ऐसे में आरोप लगाने वाली महिलाओं का अपमान नहीं किया जाना चाहिए.’ इसके साथ उन्होंने उम्मीद जताई है कि पीड़ित महिलाओं को न्याय जरूर मिलेगा.

स्मृति ईरानी की यह प्रतिक्रिया ऐसे समय पर आई है जब सात महिलाओं ने ‘मी टू’ अभियान के तहत सोशल मीडिया पर अपनी बात कहते हुए एमजे अकबर पर शोषण के आरोप लगाए हैं. इस बीच इन आरोपों के मद्देनजर विपक्षी दल कांग्रेस ने एमजे अकबर से उनके इस्तीफे की मांग की है. उधर, एमजे अकबर इस समय एक व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल के साथ नाइजीरिया की यात्रा पर हैं और अपने ऊपर लगे आरोपों पर उनकी अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है.