फेसबुक ने कहा है कि हाल में उसके सिस्टम को हैक किये जाने से उसके करीब तीन करोड़ यूजर प्रभावित हुए हैं. कंपनी ने कहा कि साइबर हमलावरों ने उसके कोड में मौजूद एक खामी का फायदा उठाकर यह सेंधमारी की. फेसबुक का कहना है कि हमलावरों ने यूजरों के नाम और संपर्क का ब्यौरा जैसे फोन नंबर या ई-मेल जैसी सूचनाएं हासिल कीं. कंपनी के मुताबिक इस कमी को अब दूर कर दिया गया है. उसका यह भी कहना है कि यूजरों के खाते अब सुरक्षित हैं और उन्हें फिर से लॉग आउट करने या अपने पासवर्ड बदलने की आवश्यकता नहीं है. इस सोशल मीडिया कंपनी के सबसे ज्यादा यूजर भारत में हैं.

सुरक्षा संबंधी मुद्दों को लेकर फेसबुक बीते कुछ समय से लगातार विवादों में चल रही है. कुछ समय पहले डेटा फर्म कैंब्रिज एनालिटिका पर भी फेसबुक के पांच करोड़ यूजर्स से जुड़ी जानकारियां अवैध तरीके से हासिल करने का आरोप लगा था. इनमें साढ़े पांच लाख से ज्यादा भारतीय भी हैं. ब्रिटेन स्थित इस फर्म पर इन जानकारियों का इस्तेमाल कर कई देशों के चुनावों को प्रभावित करने का आरोप है. फेसबुक के मुखिया मार्क जुकरबर्ग ने इस डेटा लीक की बात मानते हुए माफी भी मांगी थी.