उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में शुक्रवार शाम एक अजीब वाकया देखने को मिला. हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक सचिवालय भवन के सामने हरे रंग की पगड़ी पहने और कमर में चाकू बांधकर आया एक शख्स प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी के खिलाफ नारेबाजी करते हुए बीच सड़क पर नमाज पढ़ने लगा. नमाज पढ़ने के बाद वह शख्स वहां से फरार हो गया और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी. इस घटना के कुछ देर बाद इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा और पुलिस ने आनन-फानन में घटना की जांच शुरू की.

हैरानी की बात ये है कि जब यह घटना हुई उस वक्त मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सचिवालय में अधिकारियों के साथ एक बैठक कर रहे थे. ऐसे में इसे उनकी सुरक्षा में चूक और पुलिस प्रशासन की लापरवाही के तौर पर भी देखा जा रहा है. पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए आरोपित शख्स पर अराजकता फैलाने का मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है. नमाज पढ़ने वाले शख्स की पहचान रफीक अहमद के रूप में हुई है. इस घटना के बाद पुलिस सचिवालय में ड्यूटी कर रहे दो पुलिसकर्मियों को भी निलंबित कर दिया गया है.