कांग्रेस ने आज गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को रफाल विमान सौदे से जोड़ते हुए भाजपा पर बड़ा हमला किया. उसने आरोप लगाते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, मनोहर पर्रिकर को मुख्यमंत्री पद से इसलिए नहीं हटा रहे हैं क्योंकि उन्हें डर है कि कहीं वे रफाल मामले की गोपनीय सूचनाओं का खुलासा न कर दें. इसके साथ ही कांग्रेस ने पर्रिकर के काफी समय से बीमार रहने का हवाला देते हुए कहा कि राज्य को ‘संवैधानिक संकट’ से बाहर निकालने के लिए उसे तत्काल पूर्णकालिक मुख्यमंत्री मिलना चाहिए.

पीटीआई-भाषा के मुताबिक गोवा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गिरीश चोडानकर ने कहा, ‘हम गोवा की राज्यपाल से कम से कम पांच बार मिल चुके हैं. हमने मांग की है कि कुछ व्यवस्था की जाए ताकि सरकार चल सके. गोवा में समस्या बहुत बढ़ चुकी है और हमारी मांग है कि हमें पूर्णकालिक मुख्यमंत्री मिलना चाहिए.’ इसके बाद चोडानकर ने कहा, ‘रफाल सौदा जब चल रहा था तब पर्रिकर जी रक्षा मंत्री थे. अब यह सौदा बहुत बड़ा घोटाला बन चुका है. प्रधानमंत्री और अमित शाह को डर है कि अगर उन्होंने पर्रिकर को हटाया तो वे सार्वजनिक मंच पर बहुत कुछ खुलासा कर सकते हैं.’

वहीं, कांग्रेस नेता पवन खेड़ा ने संवाददाताओं से कहा, ‘गोवा में संवैधानिक संकट बढ़ता जा रहा है. हमारी प्रार्थना है कि पर्रिकर शीघ्र स्वस्थ हों. गोवा में हर हफ्ते कैबिनेट की बैठक होती थी, अब ऐसा नहीं हो पा रहा. निर्णय नहीं हो पा रहे हैं. भ्रष्टाचार चरम पर है.’ कांग्रेस नेता ने आगे कहा, ‘गोवा में कैसे सरकार बनी है सबको पता है. आखिर क्या मजबूरी है कि नए मुख्यमंत्री के बारे में कोई फैसला नहीं हो रहा है? हमें सत्ता की लालसा नहीं है. हम गोवा की जनता के साथ न्याय चाहते हैं.’