गुरुग्राम (गुड़गांव) के एडिशनल सेशन जज कृष्ण कांत शर्मा की पत्नी और उनके बेटे को उनके ही गनर द्वारा गोली मारे जाने के मामले की जांच के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया गया है. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक इस घटना में कृष्ण कांत शर्मा की पत्नी ऋतु की रविवार को मौत हो गई जबकि बेटा ध्रुव ब्रेन डेड है.

उधर, इस मामले के आरोपित महिपाल सिंह द्वारा लगातार अपना बयान बदले जाने से अब तक ठीक तरह यह नहीं पता चल पाया है कि उसने ऋतु और ध्रुव को क्यों गोली गोली मारी थी. इससे पहले इस कांड को अंजाम देने के बाद पुलिस की गिरफ्त में आने पर उसने कहा था कि ऋतु के गलत बर्ताव से परेशान होकर उसने उन दोनों पर गोली चलाई थी. खबरों के मुताबिक इस बारे में आरोपित अब तक छह बार अपना बयान बदल चुका है. खबरों के मुताबिक पुलिस 32 साल के महिपाल की मानसिक हालत की भी जांच कर रही है. कहा जा रहा है कि उसके ‘गुरु’ और ‘गुरु मां’ की भी तलाश की जा रही है जिनका उसपर काफी प्रभाव था. अधिकारियों को शक है कि उसका गुरु इंद्रराज सिंह नाम का एक शख्स हो सकता है जिसे पुलिस एक बार धर्म परिवर्तन करवाने की शिकायतों के बाद गिरफ्तार कर चुकी है.

बीते हफ्ते शनिवार को महिपाल सिंह ने ऋतु और ध्रुव पर उस वक्त गोलियां चलाई थीं जब वे दोनों गुड़गांव के ही सेक्टर 49 के एक बाजार में खरीदारी करने के लिए पहुंचे थे. इस वारदात को अंजाम देने के बाद वह मौके से फरार हो गया गया था. साथ ही उसने कृष्ण कांत शर्मा को फोन करके इस अपराध के बारे में जानकारी भी दी थी. उसे उसी दिन गुड़गांव-फरीदाबाद रोड से गिरफ्तार कर लिया गया था.