कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार को चुनाव प्रचार के लिए मध्य प्रदेश पहुंचे. अपने दो दिवसीय दौरे के पहले दिन राहुल गांधी ने दतिया में मां पीतांबरा शक्ति पीठ में दर्शन किए और एक जनसभा को भी संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने दावा किया कि यदि राज्य में कांग्रेस सत्ता में आती है तो उसका मुख्यमंत्री 24 में से 18 घंटे युवाओं को रोजगार देने में लगा देगा.

राहुल गांधी ने किसानों से वादा करते हुए कहा कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही दस दिनों के भीतर उनके सारे ऋण माफ कर देंगे. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जब केंद्र में कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार थी तो उसने किसानों के 70,000 हजार करोड़ रुपये के ऋण माफ किए थे. इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि उन्होंने इन चार सालों में सिर्फ 15-20 उद्योगपतियों के 3.5 लाख करोड़ रुपये के ऋण माफ किए हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष ने इस दौरान रफाल सौदे में हुई कथित गड़बड़ी का भी जिक्र किया. उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी पर तंज करते हुए कहा, ‘चौकीदार ने 30,000 करोड़ रुपये की चोरी करवा दी.’ इस हवाले से राहुल गांधी का कहना था कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) की सरकार ने रफाल सौदा हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को दिया था लेकिन नरेंद्र मोदी जब प्रधानमंत्री बने तो उन्होंने रफाल का सौदा एचएएल से ‘छीनकर अपने मित्र अनिल अंबानी’ को दे दिया.

राहुल गांधी ने ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ नारे को लेकर भी प्रधानमंत्री मोदी पर तंज कसा और कहा, ‘मोदी जी के इस नारे को हमने पसंद किया, लेकिन भाजपा का विधायक एक लड़की का रेप करता है और सीएम उसे बचाने की कोशिश करते हैं. इस मामले में पीएम ने एक शब्द भी नहीं बोला, जबकि असली नारा ‘बेटी पढ़ाओ और बेटी को भाजपा के एमएलए से बचाओ’ होना चाहिए.’