‘शोषण के आरोपों पर सफाई देने के बजाय एमजे अकबर उन पर आरोप लगाने वाली महिलाओं को डराने की कोशिश कर रहे हैं.’  

— प्रिया रमानी, पत्रकार

प्रिया रमानी का यह बयान केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर द्वारा उनके खिलाफ आपराधिक मानहानि का मामला दर्ज कराए जाने को लेकर आया है. उनके मुताबिक ‘मी टू’ अभियान के तहत अनेक महिलाओं द्वारा शोषण के आरोपों को एमजे अकबर द्वारा ‘राजनीतिक षडयंत्र’ बताए जाने से वे बेहद आहत हैं. प्रिया रमानी का कहना है कि इस मामले की लड़ाई वे ‘सच्चाई’ के सहारे लड़ेंगी.


‘तरक्की पाने के लिए महिलाएं किसी तरह का शॉर्टकट न अपनाएं.’  

— उषा ठाकुर, भाजपा मध्य प्रदेश इकाई की उपाध्यक्ष

उषा ठाकुर का यह बयान ‘मी टू’ अभियान पर आया है. महिलाओं को नैतिक मूल्यों के पालन की सलाह देते हुए उनका यह भी कहना है, ‘जब हम निजी स्वार्थ साधने के लिए नैतिकता का रास्ता छोड़ते हैं और जीवन मूल्यों का बहिष्कार करते हैं तो हमें ऐसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है.’ उधर, कांग्रेस ने उनकी इस बात को महिला विरोधी सोच और विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर को शोषण के आरोपों से बचाने की कोशिश करार दिया है.


‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आप लोगों को तो मित्रों कहते हैं, लेकिन अनिल अंबानी को भाई.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी ने यह बात मध्य प्रदेश में अनिल अंबानी की आड़ लेते हुए रफाल विमान सौदे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कही. प्रधानमंत्री को अनिल अंबानी का ‘चौकीदार’ बताते हुए उन्होंने यह भी कहा कि बीते चार साल के शासन में नरेंद्र मोदी ने देश और मध्य प्रदेश की जनता के साथ विकास और रोजगार के नाम पर सिवाय छलावे के कुछ नहीं किया. राहुल गांधी के मुताबिक अगर मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनती है तो उनकी पार्टी का मुख्यमंत्री 24 में से 18 घंटे युवाओं को रोजगार मुहैया कराने के बारे में सोचेगा.


‘अयोध्या में राम मंदिर की चाह न रखना आम लोगों का विचार नहीं हो सकता.’  

— प्रकाश जावड़ेकर, केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री

प्रकाश जावड़ेकर का यह बयान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर के एक बयान पर पलटवार करते हुए आया है. राम मंदिर को धार्मिक मुद्दा मानते हुए प्रकाश जावड़ेकर का कहना है कि उन्हें विश्वास है कि पूरा देश चाहता है कि राम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर का निर्माण हो. इससे पहले रविवार को एक कार्यक्रम के दौरान शशि थरूर ने कहा था, ‘बहुत से हिंदू इसलिए अयोध्या में मंदिर चाहते हैं क्योंकि वहां पर राम का जन्म हुआ था. लेकिन एक अच्छा हिंदू नहीं चाहेगा कि ऐसी जगह पर मंदिर बने जहां किसी और के धार्मिक स्थल को गिराया गया हो.’


‘क्या गारंटी है कि जिस पार्टी ने 50 सालों से जनता की बात नहीं सुनी वह अब सुन लेगी.’  

— वसुंधरा राजे सिंधिया, राजस्थान की मुख्यमंत्री

वसुंधरा राजे सिंधिया का यह बयान कांग्रेस पर निशाना साधते हुए आया है. उनका यह भी कहना है कि राजस्थान और देश की जनता जागरूक हो चुकी है इसलिए वह उनके बारे में सोचने और काम करने वाली पार्टी को वोट देकर उनकी सरकार बनवाएगी. ​वसुंधरा राजे सिंधिया के मुताबिक नवंबर में होने वाले राज्य विधानसभा के चुनाव में इस बात की पूरी गारंटी है कि जनता भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पक्ष में वोट देगी.