हरियाणा के हिसार जिले की एक अदालत ने हत्या के दोषी बाबा रामपाल को उम्र कैद की सजा सुनाई है. अदालत ने 11 अक्टूबर को रामपाल और उसके कुछ अनुयायियों को हत्या के दो मामलों में दोषी करार दिया था. बता दें कि हिसार के बरवाला कस्बे में बने रामपाल के सतलोक आश्रम से 19 नवंबर, 2014 को चार महिलाओं और एक बच्चे का शव मिला था. उसके बाद बाबा और उसके अनुयायियों पर हत्या और लोगों को गलत तरीके से बंधक बनाने के तहत मामले दर्ज किए गए थे.

पीटीआई के मुताबिक जिन दो मामलों में बाबा और उसके अनुयायियों को सुजा हुई है उनमें से पहला मामला बदरपुर के पास मीठापुर के रहने वाले शिवपाल ने दर्ज कराया था. वहीं, दूसरा मामला उत्तर प्रदेश के ललितपुर जिले के सुरेश का था. इन दोनों का आरोप था कि बरवाला गांव स्थित रामपाल के आश्रम में उनकी पत्नियों को बाबा और उनके समर्थकों ने बंदी बना रखा था और वहीं उनकी हत्या कर दी गई थी. बाबा पर अपने अनुयायियों को रक्षात्मक ढाल की तरह इस्तेमाल करने का भी आरोप था. हालांकि पिछले साल अगस्त में अदालत ने उसे इस आरोप का दोषी नहीं ठहराया था.