भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की राजस्थान इकाई के प्रभारी व केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने राजस्थान में वसुंधरा राजे सिं​धिया के नेतृत्व को लेकर पार्टी में किसी तरह के मतभेद से इनकार किया है. एनडीटीवी के मुताबिक प्रकाश जावड़ेकर का यह भी कहना है, ‘पार्टी नेताओं के बीच आपसी संवादों की कुछ कमी हुई थी जिसे अब दूर कर लिया गया है. वसुंधरा राजे सिंधिया राजस्थान की लोकप्रिय नेता हैं और उनके नेतृत्व में भाजपा की जीत के लिए पार्टी जी-जान से जुटी हुई है.’

इसके साथ ही प्रकाश जावड़ेकर ने कांग्रेस को भी घेरने की कोशिश की है. उन्होंने कहा है, ‘राजस्थान में अपने नेतृत्व को लेकर भाजपा का रुख पूरी तरह स्पष्ट है और पूरी पार्टी वसुंधरा राजे सिंधिया के साथ खड़ी है. वहीं दुविधा की स्थिति खुद कांग्रेस में दिखाई देती है. अशोक गहलोत और सचिन पायलट में से किसे राज्य का नेतृत्व सौंपा जाए इसे लेकर कांग्रेस अब तक कोई फैसला नहीं कर पाई है.’

इससे पहले राजस्थान विधानसभा चुनाव की प्रचार रैलियों के दौरान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया द्वारा बीते दिनों एक मंच पर न आने को देखते हुए कांग्रेस के नेता सचिन पायलट ने भाजपा में मतभेद की बात कही थी. उनका यह भी कहना था कि अमित शाह जिस किसी जिले में प्रचार के लिए राजस्थान पहुंचते हैं तो वसुंधरा राजे सिंधिया किसी अन्य जिले में जनसभा या रैली करने निकल जाती हैं.

राजस्थान की 200 विधानसभा सीटों के लिए सात दिसंबर को वोट डाले जाएंगे और 11 दिसंबर को नतीजों की घोषणा की जाएगी.