फिल्म अभिनेता रजनीकांत ने देश में चल रहे ‘मी टू’ अभियान को अच्छा बताते हुए कहा है कि महिलाओं को इसका गलत इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक फिल्म पेट्टा की शू​टिंग पूरी करने के बाद शनिवार को रजनीकांत चेन्नई पहुंचे और इसी दौरान पत्रकारों से हुई बातचीत में उन्होंने यह बात कही. इस बीच तमिल लेखक व गीतकार वायरामुत्थू पर लगे यौन दुर्व्यवहार को लेकर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए रजनीकांत ने यह भी कहा कि वायरामुत्थू ने खुद पर लगे आरोपों को नकारा है और उन महिलाओं को इस बाबत मामला दर्ज कराने की सलाह दी है.

एक अन्य सवाल के जवाब में रजनीकांत ने उन संभावनाओं को भी खारिज किया कि 12 दिसंबर को अपने जन्मदिन के मौके पर वे अपने राजनीतिक दल की घोषणा करने जा रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘राजनीतिक दल से संबंधित 90 फीसदी काम लगभग पूरा हो गया है. मैं इसके बारे में सही जगह और सही समय पर घोषणा करूंगा.’ 2019 के आम चुनाव के मद्देनजर उन्होंने यह भी कहा, ‘एक बार चुनाव तारीखों की घोषणा हो जाने के बाद आप लोगों को मेरे पक्ष के बारे में भी जानकारी मिल जाएगी.’

इस दौरान सबरीमला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए निर्णय का रजनीकांत ने स्वागत किया. हालांकि इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘मंदिरों के संबंध में हमें परंपराओं का ही सम्मान करना चाहिए.’