केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने सोमवार को एजेंसी विशेष निदेशक राकेश अस्थाना से जुड़े रिश्वत के आरोपों के सिलसिले में अपने ही पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) देवेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया. इस खबर को आज के अधिकतर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. देवेंद्र कुमार मांस कारोबारी मोइन कुरैशी के खिलाफ काले धन को वैध करने के मामले की जांच कर रही में शामिल थे. इस टीम का नेतृत्व राकेश अस्थाना के हाथों में है, जिन पर आरोपित को क्लीनचिट देने के लिए दो करोड़ रुपए की रिश्वत लेने का आरोप है. सीबीआई ने यह कार्रवाई मोइन कुरैशी के साथ एक अन्य आरोपित सतीश सना के बयान के आधार पर की है.

असम : एनआरसी मसौदे में नाम न होने पर एक व्यक्ति ने खुदकुशी की

असम के दरांग जिले में रहने वाले 70 वर्षीय निरोद बारन दास ने नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स (एनआरसी) के अंतिम मसौदे में नाम न होने पर रविवार को खुदकुशी कर ली. द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने अपने सुसाइड नोट में इस बात का जिक्र किया है कि एनआरसी मसौदे में उन्हें ‘विदेशी’ बताया गया है. निरोद बारन दास सेवानिवृत शिक्षक थे. साथ ही, वकालत की प्रैक्टिस भी करते थे. उनके भाई अखिल चंद्र दास ने बताया कि निरोद को छोड़कर परिवार के सभी सदस्यों के नाम एनआरसी में शामिल हैं. उन्होंने एनआरसी प्रक्रिया पर नाराजगी जाहिर करते हुए आगे कहा, ‘यदि यहां (असम) सात दशकों तक रहने के बाद भी आपको भारतीय नागरिक नहीं माना जाता तो इसका क्या किया जाए? सही भारतीय नागरिक की पहचान की प्रक्रिया क्या है?’ बीती 30 जुलाई को एनआरसी का अंतिम मसौदा जारी किया गया था. इसमें असम के 40 लाख से अधिक लोगों को भारतीय नागरिक नहीं माना गया है.

पेटीएम के संस्थापकों से निजी डेटा सार्वजनिक न करने के बदले 20 करोड़ रुपए की मांग

पेटीएम के संस्थापकों से निजी डेटा सार्वजनिक न करने के बदले 20 करोड़ रुपये मांगने का मामला सामने आया है. अमर उजाला के पहले पन्ने पर प्रकाशित खबर के मुताबिक कंपनी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष अजय शेखर शर्मा ने अपनी निजी सचिव सोनिया धवन और उनके पति सहित चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है. शिकायतकर्ता के मुताबिक सोनिया धवन के पास उनकी, पेटीएम के संस्थापक विजय शेखर शर्मा और कंपनी की गोपनीय जानकारियां थीं. साथ ही, आरोपित ने कुछ दिन पहले डेटा चोरी भी की थी. अजय शेखर शर्मा की मानें तो इसके बाद सोनिया ने इस डेटा को कंपनी में एडमिन देवेंद्र कुमार की मदद से कोलकाता पहुंचाया. वहीं, कोलकाता स्थित रोहित चोमल नाम के अपने दोस्त को 20 फीसदी कमीशन का लालच देकर 20 करोड़ अपने खाते में मांगने को कहा. इन कामों को अंजाम देने के बाद विजय शेखर शर्मा को पैसा जमा कराने के लिए फोन कॉल और व्हाट्सएप के जरिए जरूरी जानकारी दी गई थी. पुलिस ने इस मामले में तीन को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं, रोहित फिलहाल फरार है.

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से एससी-एसटी कानून में किए गए संशोधनों पर जवाब मांगा

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (एससी-एसटी) कानून में किए गए संशोधनों पर जवाब तलब किया है. शीर्ष अदालत ने इसके लिए केंद्र को 26 अक्टूबर तक का वक्त दिया है. राजस्थान पत्रिका की खबर के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने एक याचिका पर सरकार को यह निर्देश दिया है. इस याचिका में एससी-एसटी संशोधन कानून-2018 को असंवैधानिक कहा गया है. याचिकाकर्ता की दलील है कि इसके जरिए बेगुनाह लोगों को फिर फंसाया जाएगा. इससे पहले बीती सात सितंबर को सुप्रीम कोर्ट ने इस कानून पर रोक लगाने से इंकार कर दिया था. इस मामले की अगली सुनवाई की तारीख 20 नवंबर तय की गई है.