सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी प्रमुख दूरसंचार कंपनियां उपभोक्ताओं के सत्यापन के लिए आधार का प्रयोग कर रही हैं. इन कंपनियों का कहना है कि आधार कार्ड के जरिए सत्यापन उपभोक्ताओं और उसके लिए सबसे आसान तरीका है. इससे बिना किसी कागज और कम समय में ही उपभोक्ता का सत्यापन हो जाता है.

द टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष डीजी राजन मैथ्यू ने कहा, ‘हम हमेशा दूरसंचार विभाग और सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का पालन करते आए हैं. इस मामले में भी हम दूरसंचार विभाग के निर्देशों का इंतजार कर रहे हैं. हालांकि हम यह भी मानते हैं कि आधार कार्ड के जरिए सत्यापन काफी सुरक्षित और सुविधाजनक है.’

उधर, भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) के एक अधिकारी का कहना है, ‘हम इस मामले में दूरसंचार कंपनियों को सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के संबंध में पत्र लिखकर आगाह कर चुके हैं. लेकिन अब भी आधार से सत्यापन जारी है. इसकी जानकारी हमने दूरसंचार विभाग को भी दी है. उनसे कहा है कि इम मामले से जल्द अपने स्तर पर निपटना होगा.’

दूरसंचार विभाग के अधिकारियों का कहना है, ‘मामला हमारी जानकारी में. हम इसके समाधान के लिए काम कर रहे हैं. जल्द ही आधार के जरिए ई-सत्यापन को बंद करने के संबंध में निर्देश जारी कर दिए जाएंगे.’ ग़ौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने 26 सितंबर को आधार को संवैधानिक रूप से वैध ठहराते हुए इसके इस्तेमाल को सीमित कर दिया था. फैसले के अनुसार नए मोबाइल सिम के लिए आधार की जरूरत नहीं होगी. इसके साथ ही मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करना भी जरूरी नहीं है.