सऊदी अरब के वरिष्ठ पत्रकार जमाल खशोगी के बड़े बेटे सलाह ने परिवार सहित देश छोड़ दिया है. बताया जाता है कि वे अमेरिका के लिए रवाना हुए हैं. मानवाधिकारों के क्षेत्र में काम करने वाली संस्था- ह्यून राइट्स वॉच के कार्यकारी निदेशक सराह ली व्हिट्सन के मुताबिक ये लोग गुरुवार रात वॉशिंगटन के लिए रवाना हुए हैं.

सऊदी अरब ने इस बारे में कोई औपचारिक प्रतिक्रिया नहीं दी है. लेकिन व्हिट्सन के मुताबिक इन लोगों के देश छोड़ने पर पहले सऊदी अरब सरकार ने प्रतिबंध लगा दिया था, जो बाद में हटा लिया गया. इसके बाद ये लोग तुरंत रवाना हो गए. सलाह और उसके परिवार के पास सऊदी अरब के साथ-साथ अमेरिकी नागरिकता भी है. सलाह के अन्य भाई-बहन भी अमेरिका में ही रहते हैं.

जमाल खशोगी सऊदी अरब में अमेरिकी अख़बार वॉशिंगटन पोस्ट के लिए काम करते थे. उन्हें सऊदी शाही परिवार का आलोचक माना जाता था. इसी कारण शाही परिवार के ख़ास अफसर के इशारों पर बीती दो अक्टूबर को उनकी हत्या करवा दी गई. वे उस रोज तुर्की के इस्तांबुल में स्थित सऊदी दूतावास में अपनी मंगेतर (जिससे वे शादी करने वाले थे) के काग़ज़ात लेने गए थे. लेकिन दूतावास से बाहर नहीं निकले. उन्हें वहीं मार दिया गया. अंतरराष्ट्रीय दबाव में सऊदी अरब ने इसी गुरुवार को माना है कि खशोगी की हत्या हो चुकी है. शुरू में सऊदी अरब यह मानने से इंकार कर रहा था. इस मामले को अमेरिका ने भी गंभीरता से लिया है. वह अपने स्तर पर इस मामले की जांच कर रहा है.