बिहार में भाजपा और जदयू के बीच अगले लोकसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे पर सहमति बन गई है. शुक्रवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि दोनों पार्टियां बराबर सीटों पर चुनाव लड़ेंगी और गठबंधन में शामिल उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) और रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी को सम्मानजनक सीटें दी जाएंगी. अमित शाह और बिहार के मुख्यमंत्री ने यह घोषणा दिल्ली में एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान की. नीतीश कुमार इसी सिलसिले में शुक्रवार को दिल्ली आए हुए थे. उन्होंने यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात की है.

इस दौरान नीतीश कुमार ने भाजपा अध्यक्ष की बात को दोहराते हुए कहा है कि भाजपा और जदयू के बीच सहमति बनने के बाद बाकी दलों के लिए सीटों की संख्या तय करने पर बातचीत जारी है. इसके साथ ही नीतीश कुमार का कहना था कि सीटों की संख्या तय हो जाने के बाद इस बात का फैसला किया जाएगा कि कौन सी पार्टी का उम्मीदवार किस सीट से चुनाव लड़ेगा.

बिहार में लोकसभा की 40 सीटें हैं. देश में सबसे अधिक लोकसभा की सीटों वाले राज्यों - उत्तर प्रदेश (80), महाराष्ट्र (48), आंध्र प्रदेश (42) और पश्चिम बंगाल (42) के बाद बिहार पांचवें नंबर में है.