‘सीबीआई निदेशक को हटाने से नरेंद्र मोदी बचने वाले नहीं हैं.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी ने यह बात केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) विवाद को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कही है. इसके साथ ही सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा को जबरन छुट्टी पर भेजे जाने और उनकी शक्तियां वापस लिए जाने वाले फैसले को उन्होंने सरकार द्वारा घबराहट में उठाया गया कदम भी बताया है. राहुल गांधी का यह भी कहना है, ‘प्रधानमंत्री भाग सकते हैं, छुप सकते हैं लेकिन अंत में सच जरूर सामने आएगा.’

‘सीबीआई जैसी राष्ट्रीय संस्थाओं को नरेंद्र मोदी सरकार ने विकृत कर दिया है.’  

— मनमोहन सिंह, भारत के पूर्व प्रधानमंत्री

मनमोहन सिंह ने यह बात शुक्रवार को कांग्रेस के नेता शशि थरूर द्वारा लिखी किताब ‘द पैराडॉक्सिकल प्राइम मिनिस्टर’ के विमोचन के मौके पर कही. इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए मनमोहन सिंह ने यह भी कहा कि वे हर मुद्दे पर खुलकर अपने विचार रखते हैं लेकिन गौ-रक्षकों व मॉब लिंचिंग (भीड़ द्वारा हिंसा व हत्या) के अलावा साम्प्रदायिक हिंसा जैसे गंभीर मुद्दों पर कुछ नहीं बोलते.


‘सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने निष्पक्षता की कसौटी को मजबूत करने का काम किया है.’  

— अरुण जेटली, केंद्रीय वित्त मंत्री

अरुण जेटली का यह बयान केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के निदेशक आलोक वर्मा की एक याचिका पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुनाए गए आदेश को लेकर आया है. उनका यह भी कहना है कि इस मामले में सरकार न किसी अधिकारी का समर्थन कर रही है और न ही विरोध.


‘दोबारा कर्नाटक का मुख्यमंत्री बनने का मुझे कोई लालच नहीं है.’  

— सिद्धारमैया, कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री

सिद्धारमैया ने यह बात पत्रकारों द्वारा पूछे गए एक सवाल के जवाब में कही है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि बीते पांच सालों के अपने कार्यकाल में उन्होंने सभी वादे पूरे किए थे. हालांकि इसके साथ उनका यह भी कहना था कि अगर लोगों का ‘समर्थन और आशीर्वाद’ मिलता है तो राज्य के आगामी विधानसभा चुनाव के बाद वे एक बार फिर कर्नाटक के मुख्यमंत्री बन सकते हैं.


‘दुनिया में आतंकवाद के सबसे बड़े प्रायोजक को हम खतरनाक हथियार नहीं बनाने देंगे.’  

— डोनाल्ड ट्रंप, अमेरिका के राष्ट्रपति

डोनाल्ड ट्रंप ने यह बात व्हाइट हाउस में ईरान के खिलाफ पांच नवंबर से प्रतिबंध लगाए जाने की घोषणा करते हुए कही. इसके साथ ही अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपने सहयोगी देशों से ईरान से किए जाने वाले कच्चे तेल के आयात को भी कम करने की अपील की है. डोनाल्ड ट्रंप की इस घोषणा का भारत पर भी असर पड़ने की आशंका है क्योंकि अपनी जरूरत के तेल का एक बड़ा हिस्सा वह ईरान से ही आयात करता है.