राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने आगामी आम चुनाव के दौरान राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का साथ छोड़कर राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के साथ गठजोड़ करने संबंधी अटकलों को खारिज किया है. एनडीटीवी के मुताबिक शनिवार को राजगीर में पत्रकारों से हुई बातचीत में उपेंद्र कुशवाहा ने कहा है, ‘हमारी पार्टी पूरी दृढ़ता के साथ एनडीए के साथ है और 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद मैं नरेंद्र मोदी को एक बार फिर प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहता हूं. उनका दोबारा प्रधानमंत्री बनना देश के लिए जरूरी है.’

इससे पहले शुक्रवार को आगामी आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बिहार में सीटों के बंटवारे के मुद्दे पर सहमति बनने संबंधी घोषणा की थी. तब भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) और भाजपा बराबर सीटों पर चुनाव लडेंगी. साथ ही आरएलएसपी व रामविलास पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी को भी सम्मानजनक सीटें दी जाएंगी.

इस घोषणा के कुछ ही देर बाद बिहार के अरवाल जिले में उपेंद्र कुशवाहा की राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता तेजस्वी यादव से मुलाकात हुई थी. उस मुलाकात के बाद से ही अटकलें लगाई जाने लगी थीं कि बिहार में सीटों के बंटवारे को लेकर की गई अमित शाह की घोषणा से कुशवाहा खुश नहीं हैं इसलिए आगामी आम चुनाव के दौरान वे आरजेडी के खेमे के साथ गठजोड़ कर सकते हैं.

उधर, उपेंद्र कुशवाहा का यह भी कहना है कि सीटों के बंटवारे को लेकर अमित शाह से उनकी बातचीत हुई थी. उधर आरएलएसपी के एक अन्य नेता ने कहा है कि इस मुद्दे पर बातचीत के लिए अमित शाह ने उपेंद्र कुशवाहा को दिल्ली बुलाया है. दोनों नेताओं के बीच यह मुलाकात अगले हफ्ते सोमवार को होगी.