भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज खलील अहमद को वेस्टइंडीज के साथ मुंबई में खेले गए चौथे एक दिवसीय मैच में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी पाया गया है. द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक खलील अहमद को 14वें ओवर में सैमुएल्स को आउट करने के बाद ऊंची आवाज में अपशब्द कहते हुए सुना गया था. इसे फील्ड में मौजूद एंपायर इयान गोल्ड और अनिल चौधरी ने आपत्तिजनक मानते हुए यह कार्रवाई की है.

खलील अहमद को आईसीसी की आचार संहिता स्तर एक के अनुच्छेद 2.5 का उल्लंघन करने का दोषी पाया गया है. यह भाषा के ऐसे इस्तेमाल या इशारे को प्रतिबंधित करती है जिससे अंतरराष्ट्रीय मैच में आउट हुए बल्लेबाज को आक्रामक प्रतिक्रिया के लिए उकसाने की कोशिश की जाती है. वहीं इस मामले में खलील अहमद ने अपना दोष मानते हुए मैच रैफरी क्रिस ब्रॉड के लगाए जुर्माने (एक डीमेरिट प्वाइंट) को स्वीकार कर लिया है. अब इस मामले में आधिकारिक सुनवाई की आवश्यकता नहीं है.

वेस्टइंडीज के खिलाफ चौथे वनडे मैच में खलील अहमद ने शानदार प्रदर्शन करते हुए पांच ओवर में तीन विकेट हासिल किए थे. उन्होंने वेस्टइंडीज के बल्लेबाज शिमरोन हेटमायर (13), रोवमैन पावेल (1) और मार्लन सैमुएल्स (18) का विकेट अपने नाम किया था. इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने वेस्टइंडीज को 378 रनों का चुनौतीपूर्ण लक्ष्य दिया था जिसके जवाब में विपक्षी टीम 36.2 ओवरों में महज 153 रन ही बना पाई थी.