‘भाजपा के नेतृत्व वाली मौजूदा केंद्र सरकार से देश के लोकतंत्र को खतरा है.’  

— चंद्रबाबू नायडू, तेलुगु देशम पार्टी के प्रमुख

चंद्रबाबू नायडू ने यह बात गुरुवार को दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात करने के बाद कही. उनके मुताबिक मौजूदा केंद्र सरकार आज केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया (आरबीआई) जैसी संस्थाओं के कामकाज में अपना दखल दे रही है जो सही नहीं है. इसके साथ ही चंद्रबाबू नायडू का यह भी कहना था कि देश में लोकतंत्र की रक्षा और भविष्य की पीढ़ियों की सुरक्षा के लिए आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भाजपा विरोधी दलों का एकजुट होना जरूरी है.

‘राम मंदिर के निर्माण के लिए संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान मैं निजी विधेयक लाऊंगा. क्या राहुल गांधी इसका समर्थन करेंगे?’  

— राकेश सिन्हा, राज्यसभा सांसद

राकेश सिन्हा ने यह बात एक ट्वीट में कही है. इसी ट्वीट में उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अलावा भाजपा के विरोधी दलों के मायावती व सीताराम येचुरी जैसे कई अन्य नेताओं से सवाल किया है कि क्या इस विधेयक पर वे लोग उनका समर्थन करेंगे? इसके साथ ही राकेश सिन्हा का यह भी कहना है कि राम मंदिर, हिंदुओं की शीर्ष प्राथमिकता है लेकिन दशकों से लंबित इस मुद्दे को शीर्ष अदालत वरीयता के तौर पर नहीं देखता.


‘न तो राम और न ही अल्लाह किसी पार्टी को चुनाव में जीत दिला सकते हैं.’  

— फारुक अब्दुल्ला, नेशनल कांफ्रेंस के नेता

फारुक अब्दुल्ला ने यह बात राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उन नेताओं पर निशाना साधते हुए कही है जिन्होंने कानून के जरिये अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण की मांग की है. उनका यह भी कहना है कि अगर भाजपा यह समझती है कि भगवान राम आगामी आम चुनाव में उसे जीत दिला देंगे तो यह सही नहीं है. फारुक अब्दुल्ला के मुताबिक चुनाव के दौरान देश के आम लोग अपना वोट देकर किसी की जीत सुनिश्चित कराते हैं.


‘अयोध्या में भाजपा ने राम मंदिर के निर्माण के लिए नहीं बल्कि सत्ता की सीढ़ी बनाने के लिए ईंटें इकट्ठा की थीं.’  

— उद्धव ठाकरे, शिव सेना के प्रमुख

उद्धव ठाकरे का यह बयान भाजपा पर निशाना साधते हुए आया है. इसके साथ ही उनका यह भी कहना है कि भाजपा ने राम मंदिर के निर्माण को भी अगर ‘जुमला’ करार दिया तो आगामी लोकसभा के चुनाव में वह 208 से गिरकर महज दो सीटों पर सिमटकर रह जाएगी. उद्धव ठाकरे के मुताबिक उन्हें राजनीतिक दलों की नहीं बल्कि देश और जनता की अधिक चिंता है.


‘विराट कोहली क्रिकेट के सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में शामिल होंगे.’  

— सचिन तेंदुलकर, भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान

सचिन तेंदुलकर ने यह बात भारतीय क्रिकेट टीम के मौजूदा कप्तान विराट कोहली के शानदार प्रदर्शन को देखते हुए कही है. इसके साथ ही उनका यह भी कहना है, ‘मैं तुलना में विश्वास नहीं करता लेकिन विराट कोहली की अच्छा करने की ललक को देखकर कह सकता हूं कि वे दुनिया के शीर्ष बल्लेबाजों में से एक होंगे.’ विराट कोहली ने बीते दिनों एक दिनी क्रिकेट में सबसे तेज दस हजार रन बनाने का रिकॉर्ड बनाया था. इसके साथ ही क्रिकेट के इस फॉर्मेट में वे अब तक 38 शतक भी जमा चुके हैं.