‘दसॉ एविएशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी उस एक व्यक्ति को बचाने के लिए झूठ बोल रहे हैं जो इस देश को चला रहा है.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी ने यह बात रफाल विमान सौदे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कही है. उनके मुताबिक रफाल का निर्माण करने वाली फ्रांस की दसॉ एविएशन ने रिलायंस एविएशन को ‘रिश्वत’ की पहली किस्त के तौर पर 284 करोड़ रुपये दिए थे. इसके सा​थ ही उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि घाटे में चल रही किसी कंपनी के खाते में इतनी बड़ी रकम क्यों डाली गई और अगर दसॉ ने यह रकम नहीं डाली तो रिलायंस को यह पैसा कहां से मिला? राहुल गांधी ने आगे कहा कि अगर इस सौदे की जांच हुई तो इसकी आंच से नरेंद्र मोदी भी नहीं बच सकेंगे.

‘अयोध्या विवाद अगर सुप्रीम कोर्ट के लिए महत्वपूर्ण मुद्दा नहीं है तो फिर कौन से मुद्दे हैं जो उसके लिए अहम हैं.’  

— सुरेश भैयाजी महाराज, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के महासचिव

सुरेश भैयाजी ने यह बात शुक्रवार को मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान कही. इस मौके पर अयोध्या में राम मंदिर को करोड़ों हिंदुओं के विश्वास का मुद्दा बताते हुए उन्होंने यह भी कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट द्वारा इस मामले की सुनवाई अगले साल जनवरी तक के लिए टाले जाने से हमें दुख पहुंचा है.’ सुरेश भैयाजी के मुताबिक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का न्यायपालिका के प्रति पूरा सम्मान है और अगर यह मामला न्यायालय के सामने विचाराधीन न होता तो आरएसएस अब तक अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण करा चुका होता.


‘सुप्रीम कोर्ट के फैसलों को जल्दी ही हिंदी भाषा में भी जारी किया जाएगा.’  

— रंजन गोगोई, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस

रंजन गोगाई ने यह बात शुकवार को पत्रकारों के साथ बातचीत के दौरान कही. उनके मुताबिक सुप्रीम कोर्ट के फैसलों को आम लोग भी आसानी से समझ सकें इसके लिए 500 पन्नों के बजाय इन्हें संक्षिप्त करके एक-दो पन्नों में जारी किया जाएगा. इसके साथ चीफ जस्टिस ने यह भी कहा कि शीर्ष अदालत के कुछ फैसलों का अंग्रेजी से हिंदी में अनुवाद कराकर जारी किया जाएगा और निकट भविष्य में क्षेत्रीय भाषाओं के लिहाज से भी यह प्रक्रिया अपनाने की कोशिश की जाएगी.


‘केंद्र की सत्ता में आने के बाद भाजपा ने आरएसएस के समूचे एजेंडे को ताक पर रख दिया है.’  

— उद्धव ठाकरे, शिव सेना के प्रमुख

उद्धव ठाकरे ने यह बात भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए कही है. उनका यह भी कहना है कि सत्ता में आने से पहले भाजपा ने अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण सहित जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाली धारा 370 को निरस्त करने का वादा किया था, लेकिन अब ऐसा लगता है कि भाजपा ने इन दोनों ही मुद्दों को छोड़ दिया है.