केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री रामदास अठावले ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के प्रमुख शरद पवार के बाबत दिलचस्प बयान दिया है. उनके मुताबिक, ‘शरद पवार के कांग्रेस के साथ हाथ मिलाने की संभावनाएं नहीं हैं. वे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) में शामिल हो सकते हैं. एनडीए में आने पर उन्हें उपप्रधानमंत्री भी बनाया जा सकता है.’

रामदास अठावले महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय में आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने वर्धा आए थे. यहीं उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए यह दावा किया. अठावले ने कहा कि विपक्षी दल 2019 के लोक सभा चुनावों में चाहे कितना जोर लगा लें, वे सत्ता में वापस नहीं लौट पाएंगे इसलिए एनसीपी प्रमुख शरद पवार कांग्रेस के साथ नहीं बल्कि एनडीए के साथ आएंगे. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस राहुल गांधी को प्रधानमंत्री बनाना चाहती है. ममता बनर्जी, चंद्रबाबू नायडू और दूसरे नेता भी प्रधानमंत्री बनने की दौड़ में शामिल हैं. ऐसे में शरद पवार और राहुल गांधी प्रधानमंत्री बनने के लिए एक-दूसरे का सहयोग कभी नहीं करेंगे.’

अठावले ने इस दौरान यह भी कहा कि अगले चुनावों में कांग्रेस को 60 से 70 सीटें ही मिलेंगी जबकि एनसीपी पांच से सात सीट जीतेगी. उनका कहना था कि ऐसे में विपक्ष सत्ता में नहीं लौट सकता इसलिए शरद पवार को एनडीए में आने का फैसला लेना चाहिए. अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के मामले में उन्होंने कहा कि इसके लिए सबको सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार करना चाहिए और राम मंदिर के निर्माण के लिए अध्यादेश लाना ठीक नहीं होगा.