कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने पिछले आम चुनाव के प्रचार के दौरान जनता से झूठे वादे करने का आरोप लगाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक राजस्थान के जयपुर में एक प्रेस वार्ता के दौरान गुलाम नबी आजाद ने कहा, ‘भारत में जितने भी प्रधानमंत्री हुए उनमें नरेंद्र मोदी ने सबसे ज्यादा विदेश यात्राएं कीं. कथित तौर पर विदेश में उनका काफी प्रभाव है. इसके बावजूद बैंकों से धोखाधड़ी करके देश से फरार होने वाले एक भी कारोबारी को वे स्वदेश लाने में सफल नहीं हो सके हैं.’

इस मौके पर कांग्रेस नेता ने दावा किया कि 2014 के आम चुनाव के प्रचार के दौरान भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने लोगों के साथ झूठे वादे किए थे जिससे लोगों का मौजूदा सरकार से विश्वास हट गया है. आजाद के मुताबिक, ‘नरेंद्र मोदी ने कहा था कि भाजपा के केंद्र की सत्ता में आने पर वे विदेशों में छुपा काला धन वापस लाएंगे. काला धन तो छोड़िये उनकी पार्टी देश का सफेद धन बचाने में भी कामयाब नहीं हो सकी. शराब कारोबारी विजय माल्या और नीरव मोदी जैसे लोग बैंकों के साथ धोखाधड़ी करके रातों-रात देश से फरार हो गए.’

इसके साथ ही रोजगार के अवसर मुहैया कराने के मोर्चे पर सरकार को फेल करार देते हुए उन्होंने कहा, ‘मोदी ने पांच साल में दस करोड़ लोगों को रोजगार मुहैया कराने का वादा किया था. इस लिहाज से साढ़े चार साल के उनके शासन में अब तक नौ करोड़ लोगों को रोजगार मिल जाना चाहिए था लेकिन हकीकत यह है कि अब तक सिर्फ 20 लाख लोगों को ही रोजगार मिल पाया है. रोजगार के अवसरों में आई कमी से पढ़े-लिखे व डिग्रीधारी युवाओं के अलावा विद्यार्थियों का विश्वास भी मौजूदा केंद्र सरकार से हट गया है.’