उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य का दावा है कि अयोध्या में ‘रामलला’ की प्रतिमा स्थापित करने से सरकार को कोई नहीं रोक सकता. समाचार एजेंसी एएनआई से हुई बातचीत में केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है, ‘अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है इसलिए हम वहां कुछ नहीं कर सकते. लेकिन सरयू तट पर रामलला की प्रतिमा स्थापित करने से अगर किसी ने हमें रोकने की कोशिश की तो हम उसे देख लेंगे.’

उन्होंने आगे कहा, ‘अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण जरूर होगा लेकिन मामले के शीर्ष अदालत में होने से मैं इसकी तारीख के बारे में फिलहाल कुछ नहीं कह सकता. हां, यह विश्वास जरूर दिला सकता हूं कि अयोध्या का सीधा संबंध भगवान राम के साथ है इसलिए बाबर के नाम पर अयोध्या में कुछ भी नहीं बनने दिया जाएगा.’

केशव प्रसाद मौर्य का यह बयान ऐसे समय पर आया है जब एक दिन पहले ही शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की उत्तर प्रदेश इकाई के प्रमुख महेंद्र नाथ पांडेय ने कहा था कि अयोध्या में भगवान राम की 151 मीटर ऊंची प्रतिमा स्थापित कराई जाएगी. उनका यह भी कहना था कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दीवाली के मौके पर इस बारे में घोषणा कर सकते हैं.