जम्मू-कश्मीर में अचानक हुई बर्फबारी के कारण सेब के किसानों को भारी नुकसान हुआ है. इससे घाटी में सेब के कई पेड़ टूट चुके हैं. पेड़ों में लगे सेब जमीन पर गिर गए हैं जिससे किसानों की परेशानी बढ़ गई हैं. कश्मीर चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के मुताबिक सेब उत्पादकों को करीब 500 करोड़ रुपए का नुकसान होने की आशंका है.

सेब के एक किसान अब्दुल गनी मीर ने एनडीटीवी को बताया कि समय से पहले हुई इस बर्फबारी के कारण उन्हें ही अकेले 10 लाख रुपए का नुकसान हुआ है. उन्होंने बताया कि उन्हें ज्यादा नुकसान सेब के पेड़ टूटने से हुआ है क्योंकि इस तरह के एक पेड़ को तैयार होने में कम से कम 16 साल लगते हैं. घाटी के सैकड़ों किसान सरकार से मदद की गुहार कर रहे हैं.

कश्मीर चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के एक अधिकारी ने बताया कि घाटी में सेब के किसानों का सालाना टर्न ओवर करीब 5,000 करोड़ रुपए का है. इस साल करीब 20,000 मीट्रिक टन सेब के उत्पादन का लक्ष्य रखा गया था जो बर्फबारी से प्रभावित हुआ है. हालांकि राहत की बात यह है कि बर्फबारी से पहले लभगभ आधा माल देश की विभिन्न मंडियों में भेजा चुका था.