राम मंदिर निर्माण की नई सुगबुगाहट के बीच अयोध्या में मंगलवार को हो रहे दीपावली उत्सव पर सभी की निगाह रहेगी. पिछली बार की तरह इस दफा भी राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस उत्सव के मुख्य अतिथि हैं और उन्होंने ही कुछ समय पहले कहा था कि राम मंदिर पर दीवाली के आसपास कोई ‘शुभ सूचना’ मिल सकती है.

वैसे द टाइम्स ऑफ इंडिया की मानें तो इस बार अयोध्या के दीपोत्सव के दौरान योगी आदित्यनाथ भगवान राम की विशालकाय मूर्ति का निर्माण शुरू करने जैसी कोई घोषणा कर सकते हैं. इस तरह की प्रतिमा स्थापित किए जाने की घोषणा उन्होंने पिछली बार की थी. इसके मुताबिक सरयू नदी के तट पर भगवान राम की 151 मीटर प्रतिमा 51 मीटर ऊंचे आधार पर स्थापित की जानी है. इस तरह प्रतिमा की कुल ऊंचाई 202 मीटर हो जाएगी. यानी सरदार पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा से 20 मीटर अधिक.

सूत्र बताते हैं कि भगवान राम की प्रतिमा के निर्माण और स्थापना के बाबत कुछ कंपनियों से सरकार बात कर रही है. वे योगी आदित्यनाथ को अपने-अपने प्रस्तुतीकरण भी दे चुकी हैं. फैज़ाबाद जिला प्रशासन ने कुछ जगहें भी चिन्हित की हैं. उनका मुआयना करने के बाद मुख्यमंत्री किसी एक पर अपनी मंज़ूरी देंगे. वे फैज़ाबाद का नाम बदले जाने की घोषणा भी कर सकते हैं. विश्व हिंदू परिषद व कुछ अन्य हिंदू संगठनों ने फैज़ाबाद का नाम ‘श्री अयोध्या’ रखने की मांग की है. एक अन्य नाम ‘साकेत’ भी चर्चा में है.