कर्नाटक उपचुनावों में कांग्रेस-जेडीएस के गठबंधन ने शानदार प्रदर्शन करते हुए भाजपा को तगड़ा झटका दिया है. उसने तीन लोकसभा सीटों में से दो पर जीत दर्ज करने के अलावा दोनों विधानसभा सीटें अपने नाम कर ली हैं. पीटीआई के मुताबिक बेल्लारी लोकसभा सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी वीएस उगरप्पा दो लाख 43 हजार 161 मतों के अंतर से विजयी हुए हैं. यहां मिली जीत कांग्रेस-जेडीएस के लिए खासी महत्वपूर्ण है. क्योंकि यह चुनाव क्षेत्र भाजपा का गढ़ माना जाता जहां खनन माफिया-रेड्डी बंधुओं की पकड़ काफी मजबूत है. उगरप्पा ने यहां भाजपा उम्मीदवार जेशांता को हराया जो रेड्डी बंधुओं के मुख्य सहयोगी तथा इसी सीट से पूर्व सांसद बी श्रीरामुलु की बहन हैं.

वहीं, मांड्या लोकसभा सीट पर जेडीएस के शिवरामे गौड़ा के भाजपा प्रत्याशी डॉक्टर सिद्धरमैया से 3.24 लाख मतों से आगे होने की खबर है. हालांकि न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक जेडीएस उम्मीदवार यह सीट जीत चुके हैं. उधर, भाजपा केवल शिमोगा लोकसभा सीट पर आगे चल रही है. यहां पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के बेटे बीवाई राघवेंद्र ने जेडीएस के मधु बंगरप्पा पर 51,000 मतों की बढ़त हासिल कर ली है. अधिकारियों ने बताया कि लोकसभा सीटों के लिए मतों की गिनती अंतिम चरण में है.

वहीं, विधानसभा उपचुनाव के नतीजों की बात करें तो रामनगर विधानससभा सीट पर मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी की पत्नी अनिता कुमारस्वामी ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भाजपा के एल चंद्रशेखर को एक लाख नौ हजार 137 मतों के बड़े अंतर हरा दिया है. हालांकि चंद्रशेखर ने चुनाव से अपना नाम वापस ले लिया था, लेकिन आधिकारिक तौर पर वे पार्टी के उम्मीदवार बने रहे. चंद्रशेखर चुनाव से पहले भाजपा में शामिल हो गए थे, लेकिन कुछ ही हफ्ते बाद कांग्रेस में वापसी कर उन्होंने भाजपा को बड़ा झटका दिया था.

उधर, उत्तरी कर्नाटक में पड़ने वाली जामखंडी विधानसभा सीट पर कांग्रेस के उम्मीदवार आनंद न्यामगौड़ा ने 39,480 मतों के अंतर से भाजपा के श्रीकांत कुलकर्णी को हरा दिया. श्रीकांत पूर्व विधायक सिद्धू गौड़ा के बेटे हैं जिनकी एक सड़क हादसे में मौत हो गई थी. बताया जा रहा है कि इस उपचुनाव में श्रीकांत को लोगों की सहानुभूति का लाभ मिला है.