केरल के सबरीमला मंदिर के गुस्साए श्रद्धालुओं ने आज कथित तौर पर एक मलयाली समाचार चैनल के कैमरामैन पर हमला कर दिया. घटना उस समय हुई जब कैमरामैन ललिता नाम की एक महिला के प्रवेश को रोकने के लिए हो रहे विरोध प्रदर्शन को फिल्मा रहा था.

पीटीआई की खबर के मुताबिक कैमरामैन का नाम विष्णु है. वे जब श्रद्धालुओं के महिला को रोकने के प्रयासों को कैमरे में कैद कर रहे थे तो सैकड़ों प्रदर्शनकारी उन पर चिल्लाने लगे. विष्णु उस समय प्रदर्शन को कवर करने के लिए इमारत के ‘सनशेड’ पर चढ़े हुए थे. उसी दौरान प्रदर्शनकारियों ने कैमरामैन पर प्लास्टिक का स्टूल फेंका. खबर के मुताबिक इस घटना को कुछ टेलीविजन चैनलों ने प्रसारित भी किया है.

इस बीच कहा जा रहा है कि सबरीमला मंदिर में हो रहा विरोध प्रदर्शन भाजपा की शह पर किया जा रहा है. मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर चल रहे संकट के बीच में सोमवार को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष पीएस श्रीधरन पिल्लाई का ऑडियो सामने आया था. इसमें वे कथित रूप से यह कहते सुने गए सबरीमला मंदिर का विवाद भाजपा के लिए ‘सुनहरा मौका’ है.

खबरों के मुताबिक ऑडियो में भाजपा नेता ने कहा कि मंदिर के मुख्य पुजारी सुप्रीम कोर्ट के आदेश के चलते दुविधा में थे. पिल्लई कहते हैं कि पुजारी ने उनसे सलाह ली थी कि ‘प्रतिबंधित’ (दस से 50 साल) आयु वर्ग की महिलाओं द्वारा मंदिर में प्रवेश की कोशिश करने की स्थिति में क्या मंदिर का दरवाजा बंद कर दिया जाए. ऑडियो में भाजपा नेता दावा करते हैं कि उनसे बात करने के बाद ही पुजारी ने मंदिर का मुख्य द्वार बंद करने का फैसला किया था.