उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के फैजाबाद जिले का नाम बदलकर अयोध्या किए जाने की घोषणा की है. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक अयोध्या में दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान दिए अपने संबोधन में इस घोषणा के साथ ही उन्होंने यह भी कहा, ‘अयोध्या के पास अपना एक नया एयरपोर्ट और मेडिकल कॉलेज भी होगा. मैं चाहूंगा ​कि मेडिकल कॉलेज का नाम यहां के पूर्व राजा दशरथ जबकि एयरपोर्ट का नाम भगवान राम के नाम पर रखा जाए.’

इससे पहले माना जा रहा था कि दीपोत्सव कार्यक्रम के दौरान योगी आदित्यनाथ भगवान राम की 151 मीटर ऊंची प्रतिमा की स्थापना को लेकर भी कोई घोषणा करेंगे. लेकिन इस बारे में फिलहाल उन्होंने कुछ नहीं कहा है.

खबरों के मुताबिक गिनीज़ बुक आॅफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में उपलब्धि दर्ज कराने के लिहाज से मंगलवार की ही शाम अयोध्या में सरयू तट पर एक साथ तीन लाख दीप जलाने का कार्यक्रम भी होना है. इस कार्यक्रम में ​दक्षिण कोरिया की प्रथम महिला किम जुंग-सुक भी शिरकत कर रही हैं. इस मौके पर मंगलवार को ही योगी आदित्यनाथ के साथ उन्होंने अयोध्या में रानी ह्यो मेमोरियल का उद्घाटन भी किया. ऐसी मान्यता है कि करीब दो हजार साल पहले कोरिया के राजा किम-सुरो के साथ वैवाहिक बंधन में बंधने के बाद अयोध्या की राजकुमारी सुरीरत्ना वहां की महारानी बनी थीं.

बीते महीने योगी आदित्यनाथ ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किया था. हालांकि उस फैसले पर उन्हें विपक्षी दलों की तरफ से आलोचनाएं झेलनी पड़ी थीं. तब उन आलोचनाओं पर पलटवार करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा था कि भारत में नाम की अपनी विशेष अहमियत है. इसके साथ ही सवालिया लहजे में उन्होंने यह भी कहा था, ‘जो लोग इलाहाबाद का नाम बदलने का विरोध कर रहे हैं वे अपना नाम बदलकर रावण या दुर्योधन क्यों नहीं रख लेते.’