यमन के बंदरगाह शहर होदीदा में सरकार समर्थक बलों और विद्रोहियों के बीच हुए हिंसक संघर्ष में 58 लड़ाकों की मौत हो गई. पीटीआई के मुताबिक शहर के अस्पताल के सूत्रों ने आज यह जानकारी दी. अधिकारियों के मुताबिक यमन के सबसे अहम बंदरगाह वाले शहर पर नियंत्रण करने की कोशिश के तहत हुई इस लड़ाई में सरकार विरोधी विद्रोही और सैनिक दोनों मारे गए हैं.

सूत्रों ने बताया कि रात भर चली लड़ाई और हवाई हमलों में 47 विद्रोही मारे गए हैं. खबर के मुताबिक विद्रोहियों पर हुए हवाई हमले सरकार समर्थक सऊदी अरब के नेतृत्व वाले गठबंधन ने किए हैं. वहीं, सरकार के नियंत्रण वाले बाहरी इलाकों में स्थित अस्पतालों के सूत्रों ने बताया कि हिंसक संघर्षों में 11 सैनिकों की भी मौत हो गई.

लाल सागर के किनारे बसा होदिदा शहर यमन के लिए काफी महत्वपूर्ण है. इसे यहां के लोगों की लाइफलाइन भी कहा जाता है. यमन का 90 फीसदी से ज्यादा आयात इसी बंदरगाह पर निर्भर है. यमन में 2015 से अशांति चल रही है. तब हौथी विद्रोहियों ने देश के उत्तरी क्षेत्र को अपने कब्जे में ले लिया था और वहां की चुनी हुई सरकार को निष्कासित कर दिया था.