‘वक्त जख्मों को भर देता है, लेकिन नोटबंदी के जख्म दिन-प्रतिदिन और गहरे होते जा रहे हैं.’  

— मनमोहन सिंह, भारत के पूर्व प्रधानमंत्री

मनमोहन सिंह ने यह बात नोटबंदी के दो साल पूरे होने के मौके पर कही है. उनके मुताबिक नरेंद्र मोदी सरकार ने सही तरीके से विचार किए बिना ही नोटबंदी का कदम उठाया जिससे देश के छोटे और मझौले कारोबारी अब तक नहीं उबर पाए हैं. मनमोहन सिंह का यह भी कहना है कि केंद्र की मोदी सरकार को अब ऐसा कोई आर्थिक कदम नहीं उठाना चाहिए जिससे अर्थव्यवस्था को लेकर अनिश्चितता की स्थिति पैदा हो.

 ‘नोटबंदी सोच-समझकर किया गया एक क्रूर षडयंत्र था.’  

— राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष

राहुल गांधी ने यह बात केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए एक ट्वीट के जरिये कही है. इसी ट्वीट में राहुल गांधी ने आगे लिखा है, ‘यह घोटाला प्रधानमंत्री के सूट-बूट वाले मित्रों का काला धन सफेद करने की एक धूर्त स्कीम थी. इस कांड में कुछ भी मासूम नहीं था. इसका दूसरा अर्थ निकालना राष्ट्र की समझ का अपमान है.’

‘नोटबंदी का मकसद नकदी को जब्त करना नहीं बल्कि बैंकों के जरिये उसे औपचारिक अर्थव्यवस्था में शामिल कराना था.’  

— अरुण जेटली, केंद्रीय वित्त मंत्री

अरुण जेटली ने यह बात सरकार के नोटबंदी वाले फैसले का बचाव करते हुए फेसबुक पर एक ब्लॉग के जरिये कही है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि सरकार के इस फैसले से जहां बैंकों के संदिग्ध खाताधारकों का पता चला तो वहीं व्यक्तिगत आयकर में भी 20.2 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज हुई. उन्होंने आगे कहा कि नोटबंदी के फैसले से बाद बीते दो सालों की तुलना में कॉरपोरेट टैक्स में भी 19.5 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है.

‘अरुण जेटली को कोई याद दिलाए कि नोटबंदी के फैसले पर उन्होंने पहले क्या कहा था.’  

— पी चिदंबरम, भारत के पूर्व वित्त मंत्री

पी चिदंबरम ने यह बात नोटबंदी को लेकर केंद्रीय वित्त मंंत्री अरुण जेटली द्वारा लिखे गए एक ब्लॉग पर पलटवार करते हुए एक ट्वीट के जरिये कही है. इसी ट्वीट में उन्होंने यह भी लिखा है, ‘वित्त मंत्री कहते हैं कि नोटबंदी का मकसद मुद्रा जब्त करना नहीं था. लेकिन क्या कोई उनको याद दिलाएगा कि उन्होंने मीडिया से पहले क्या कहा था?’ चिदंबरम का यह भी कहना है कि सरकार का नोटबंदी के जरिये तीन से चार लाख करोड़ रुपये हासिल करने का सपना था, लेकिन बैंक काउंटरों पर मनी लांड्रिंग की वजह से यह सपना साकार नहीं हो पाया.