कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर आरोप लगाया कि उन्होंने अपने कार्यकाल के दौरान चुनिंदा 15 उद्योगपतियों का 3.5 लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया. उन्होंने आज छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव को लेकर कांकेर जिले के चारामा में आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुए यह आरोप लगाया. इसके अलावा राहुल गांधी ने कहा कि वे चाहते हैं कि मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ पांच सालों में कृषि का केन्द्र बन जाएं और देश को खाना, फल और सब्जियां मुहैया कराएं.

पीटीआई की खबर के मुताबिक राहुल गांधी ने कहा, ‘पिछले चार-पांच सालों में मोदीजी ने 15 सबसे धनी लोगों को 3.5 लाख करोड़ रुपये दिए, जबकि देश में मनरेगा योजना चलाने के लिए सालाना 35,000 करोड़ रुपये की जरूरत होती है. उन्होंने (प्रधानमंत्री मोदी) उस राशि का दस गुना धन 15 चुनिंदा उद्योगपतियों का माफ कर दिया है.’ कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे कहा, ‘मोदी ने राजकोष की चाभी 15 चुनिंदा लोगों को दे दी है लेकिन कांग्रेस यह चाभी किसानों, युवाओं, गरीबों, महिलाओं को और आदिवासियों को देना चाहती है.’

बता दें कि 90 सदस्यीय छत्तीसगढ़ विधानसभा के लिए दो चरणों में 12 और 20 नवंबर को मतदान होगा. वहीं, मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को वोट डाले जाएंगे. चुनाव परिणामों की घोषणा 11 दिसंबर को की जाएगी.