लोकसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं सियासी दाव-पेंच भी दिखने लगे हैं. मसलन- राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) के प्रमुख और केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा सोमवार को जेडीयू (जनता दल-यूनाइटेड) छोड़ चुके नेता शरद यादव से मिलने पहुंच गए. साथ ही जेडीयू के प्रमुख और बिहार के मुख्यमंत्री तथा एनडीए (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) में सहयोगी नीतीश कुमार पर आरोप भी लगाए.

उपेंद्र कुशवाहा ने शरद यादव से मुलाकात के बाद पत्रकारों से कहा, ‘नीतीश कुमार हमारे विधायकों को खरीदने की कोशिश कर रहे हैं. वे उपेंद्र कुशवाहा और उनकी पार्टी को खत्म करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन वे इसमें सफल नहीं होंगे. वे एनडीए का हिस्सा हैं और हम भी, उन्हें इस तरह की चीजें नहीं करनी चाहिए.’ ग़ौरतलब है कि रविवार को इस तरह की ख़बरें आई थीं कि आरएलएसपी के विधाक सुधांशु शेखर और ललन पासवान के जेडीयू में शामिल हो सकते हैं.

ध्यान रखने की बात यह भी है कि बिहार में नीतीश कुमार और उपेंद्र कुशवाहा के बीच लंबे समय से 36 का आंकड़ा है. जब से नीतीश की एनडीए में वापसी हुई है तभी से उपेंद्र असहज हैं. इस बीच जब भाजपा और जेडीयू ने यह घोषणा की कि अगले लोक सभा चुनाव में दोनों पार्टियां बराबर सीटों पर चुनाव लड़ेंगी तो उपेंद्र और असहज हो गए. इसीलिए वे अब जेडीयू से अलग होकर जेडीएल (जनता दल-लाेकतांत्रिक) बनाने वाले शरद यादव से मदद की उम्मीद लगा रहे हैं.