चक्रवाती तूफान ‘गाजा’ दो दिन बाद गुरुवार को तमिलनाडु और पुडुचेरी के तटीय इलाकों में दस्‍तक दे सकता है. मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए बताया है कि इस दौरान तेज तूफानी हवा चलने और तेज बारिश होने के आसार हैं जिसे देखते हुए अलर्ट जारी कर दिया गया है. तूफान के कारण व्यापक नुकसान की आशंका के चलते हुए राज्य सरकार ने करीब 30,500 राहत और बचाव कर्मचारियों तैनात किया है.

चक्रवाती तूफान गाजा का केंद्र चेन्नई के उत्तरपूर्व में करीब 860 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद है. यह तूफान करीब 12 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है. जिसकी रफ्तार कुछ समय बाद 80-90 किलोमीटर प्रति घंटे होने की आशंका जताई गई है. मौसम विभाग के मुताबिक, इस तूफान के कारण तमिलनाडु के तटीय क्षेत्रों में 14 नवंबर की रात से 15 नवंबर तक कई जगहों पर भारी बारिश हो सकती है. विभाग ने मछुआरों से समुद्र में मछली पकड़ने के लिए नहीं जाने की सलाह दी है और समुद्र में मौजूद मछुआरों को लौटने की अपील की है.

गाजा तूफान एक महीने के भीतर आने वाला दूसरा चक्रवाती तूफान है. बीते महीने चक्रवाती तूफान तितली ने ओडिशा और आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में तबाही मचाई थी. 11 अक्टूबर को आए इस तूफान में करीब 70 लोगों की मौत हो गई थी.