संसद का शीतकालीन सत्र अगले महीने की 11 तारीख से शुरू होने जा रहा है. यह आठ जनवरी तक चलेगा. एनडीटीवी के मुताबिक संसदीय मामलों के राज्य मंत्री विजय गोयल ने इसकी पुष्टि की है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है, ‘इस सत्र के दौरान 20 कार्यदिवस मिलेंगे. मुझे पूरी उम्मीद है कि शीतकालीन सत्र के दौरान शांतिपूर्ण ढंग से सदन की कार्यवाही चलाने में सभी राजनीतिक दल सहयोग करेंगे.’

दिलचस्प बात यह भी है कि 11 दिसंबर से शुरू होने वाले शीतकालीन सत्र के ही दिन पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के नतीजे भी घोषित किए जाएंगे. इसके अलावा अगले साल होने वाले आम चुनाव के मद्देनजर नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार का यह आखिरी सत्र भी होगा. संसद का शीतकालीन सत्र आम तौर पर नवंबर महीने में होता है, लेकिन यह लगातार दूसरा मौका है जब यह दिसंबर में हो रहा है.

उधर, इंडियन मेडिकल काउंसिल संशोधन विधेयक के अलावा इस सत्र के दौरान राज्यसभा में अटके तीन तलाक विधेयक को लाए जाने की भी पूरी संभावना है. जानकारों के मुताबिक इस सत्र में सरकार की कोशिश जहां ज्यादा से ज्यादा विधेयक पारित कराने की होगी तो वहीं कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दल रफाल विमान सौदे जैसे मुद्दों के जरिये सरकार को घेरने की कोशिश करते दिख सकते हैं.