कुछ दिन पहले महाराष्ट्र के यवतमाल में मार दी गई बाघिन ‘अवनी’ की कथित तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. ये तस्वीरें न्यूयॉर्क की लोकप्रिय इमारत ‘द एम्पायर स्टेट बिल्डिंग’ पर होने वाले लाइटिंग शो की हैं. इनमें इमारत की विशाल स्क्रीन पर एक बाघ दिखाया गया है. दावा किया जा रहा है कि इस इमारत के लाइटिंग शो के ज़रिए अवनी को श्रद्धांजलि दी गई है.

इस आधार पर पूछा जा रहा है कि जब अमेरिका बाघिन को लेकर संवेदनशीलता दिखा रहा है तो भारत की सरकारें अवनी को इंसाफ़ दिलाने की लड़ाई में वन्यजीव और बाघों के लिए काम करने वाले संगठनों का साथ क्यों नहीं दे रहीं. इस बात को उठाया जाना सही है लेकिन सवाल है कि क्या वाक़ई में एम्पायर स्टेट बिल्डिंग के किसी हालिया लाइटिंग शो में अवनी को श्रद्धांजलि दी गई थी.

इस सवाल का जवाब जानने के लिए हम इमारत की आधिकारिक वेबसाइट पर गए. यहां हमें पूरे साल के लाइटिंग शो का कैलेंडर मिला. इसमें 2018 के अभी तक के सभी लाइटिंग शो की जानकारी मिल जाती है. अवनी को तीन नवम्बर की रात को गोली मारी गई थी. वहीं, वायरल हो रही तस्वीर दस नवम्बर के आसपास सोशल मीडिया पर आई. हमने इन दोनों तारीख़ों के बीच का कैलेंडर चेक किया. उसमें ऐसे किसी लाइटिंग शो का ज़िक्र नहीं है जिसमें यवतमाल की बाघिन या किसी और बाघ को श्रद्धांजलि दी गई हो.

esbnyc.com
esbnyc.com

दरअसल सोशल मीडिया पर जो दो तस्वीरें शेयर हुईं हैं, वे तीन साल पहले की हैं. अगस्त 2015 में एम्पायर स्टेट बिल्डिंग ने विलुप्त होते जीवों को लेकर चलाए गए अभियान के तहत लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए एक लाइटिंग शो किया था. उसी लाइटिंग शो में इन दोनों तस्वीरों को दिखाया गया था. आप नीचे दिए वीडियो में (4:50 पर) बाघ की यह तस्वीर देख सकते हैं.

Play

इस तस्वीर को शेयर करने वालों में वे लोग भी शामिल हैं जिन्होंने बाघिन को बचाने के लिए फ़ेसबुक और ट्विटर पर ‘लेट अवनी लिव’ नाम से अकाउंट शुरू किए थे. इस नाम वाले ट्विटर हैंडल से दो तस्वीरें शेयर की गई हैं. इनमें से एक के बारे में लिखा है, ‘न्यूयॉर्क की एम्पायर स्टेट बिल्डिंग ने यह किया. भारत को इसकी (वन्यजीवन) परवाह क्यों नहीं है? दुनिया में सबसे ज़्यादा बंगाल टाइगर भारत में हैं. हमने एक विलुप्तप्राय जानवर अवनी की अवैध तरीक़े से हत्या की. क्या अब उसके शावकों की बारी है? @नरेंद्रमोदी क्या हमें हमारी धरोहर की रक्षा नहीं करनी चाहिए?’

इसी ट्विटर हैंडल से शेयर की गई एक और तस्वीर के कैप्शन में लिखा है, ‘अगर एम्पायर स्टेट बिल्डिंग पर यह हो सकता है, तो हमारा देश (अवनी का) समर्थन क्यों नहीं कर रहा? क्यों हमारी पुलिस ने (अवनी के लिए आयोजित) एक शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन होने नहीं दिया? ऊपर से ‘दबाव’ क्यों बनाया जा रहा है? हम केवल अवनी के लिए इंसाफ़ चाहते हैं. दुनिया हमें देख रही है @नरेंद्र मोदी.’

तस्वीरों को लेकर सोशल मीडिया पर जो भ्रम फैला, उसके लिए इस ट्विटर अकाउंट से शेयर की गई जानकारी कुछ हद तक ज़िम्मेदार है. ऐसा इसलिए कि इसे पढ़कर यही संदेश मिलता है कि एम्पायर स्टेट बिल्डिंग के लाइटिंग शो में उसी बाघिन को श्रद्धांजलि दी गई जिसे इस महीने की शुरुआत में महाराष्ट्र के यवतमाल ज़िले के जंगल में मार दिया गया था. हालांकि यह कहना सही नहीं होगा कि अकाउंट चला रहे लोगों ने ऐसा जानबूझकर किया. क्योंकि अवनी के लिए चलाए जा रहे फ़ेसबुक अकाउंट पर इस तस्वीर के बारे में सही और विस्तृत जानकारी दी गई है.