अगले महीने की सात तारीख को होने वाले राजस्थान विधानसभा के चुनाव में कांग्रेस ने पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष सचिन पायलट को भी प्रत्याशी बनाने का फैसला किया है. एनडीटीवी के मुताबिक इस बारे में सचिन पायलट ने कहा है, ‘मैं पार्टी का मेहनती कार्यकर्ता हूं और मुझे किस निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ना है इसका फैसला पार्टी हाईकमान करेगी.’

सचिन पायलट ने आगे कहा, ‘राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने बहुत सोच-विचार करके प्रत्याशियों का फैसला किया है. सबसे अच्छा संकेत यह है कि प्रत्याशियों को लेकर किए गए पार्टी के फैसले पर राज्य के ज्यादातर नेताओं और कार्यकर्ताओं ने अपनी सहमति भी जताई है.’ इसके साथ ही इसी हफ्ते भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) छोड़कर हरीश मीणा के कांग्रेस में शामिल होने को लेकर पायलट का यह भी कहना है, ‘हरीश मीणा जैसे वरिष्ठ नेता अगर भाजपा से नाखुश हैं तो इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि राज्य की जनता का क्या होगा.’

ऐसा माना जा रहा है कि सचिन पायलट को अजमेर या दौसा की किसी सीट से चुनावी मैदान में उतारा जा सकता है. अगर ऐसा होता है तो यह उनका पहला विधानसभा चुनाव होगा. हालांकि वे दौसा और अमजेर से सांसद रह चुके हैं. उधर, सचिन पायलट को विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाने संबंधी पार्टी की घोषणा के बाद बूंदी, जयपुर, अलवर, भरतपुर, कोटा और टोंक के कार्यकर्ताओं ने उन्हें इन विधानसभा क्षेत्रों से चुनाव लड़ने का आग्रह भी किया है.