दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ (डूसू) के अध्यक्ष अंकिव बसोया को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने फर्जी डिग्री के विवाद के चलते बर्खास्त कर दिया है. इसके साथ ही एबीवीपी ने अंकिव बसोया से फर्जी डिग्री मामले की जांच तक डूसू अध्यक्ष का पद छोड़ने के लिए भी कहा है और उन्हें संगठन की जिम्मेदारियों से भी हटा दिया गया है.

इस साल सितंबर में एबीवीपी के अंकिव बसोया ने डूसू चुनावों में अध्यक्ष पद पर जीत हासिल की थी. चुनाव जीतने के बाद एनएसयूआई और अन्य छात्र संगठनों ने अंकिव बसोया पर आरोप लगाए थे कि उन्होंने एमए (बौद्ध अध्ययन) में दाखिले के लिए तमिलनाडु स्थित तिरुवल्लुवर विश्वविद्यालय के फर्जी दस्तावेजों का सहारा लिया है. एनएसयूआई ने सूचना के अधिकार के तहत तमिलनाडु स्थित तिरुवल्लुवर यूनिवर्सिटी से इस मामले में जानकारी भी मांगी थी. तब तिरुवल्लुवर यूनिवर्सिटी की तरफ से लिखित में बताया गया था कि अंकिव बसोया कभी संस्थान के छात्र नहीं रहे.