पाटीदार समुदाय के नेता हार्दिक पटेल ने उत्तर प्रदेश में शहरों के नाम बदले जाने को लेकर भाजपा पर तंज कसा है. डेक्कन क्रॉनिकल के मुताबिक हार्दिक पटेल का कहना है कि जगहों के नाम बदलकर अगर उनका ‘गौरव’ लौटाया जा सकता है तो फिर 125 करोड़ देशवासियों का नाम भी बदलकर ‘राम’ के नाम पर कर देना चाहिए. उनका यह भी कहना है, ‘देश के सामने आज बेरोजगारी के अलावा किसानों के अनेक मुद्दे हैं पर सरकार इन पर ध्यान नहीं दे रही.’

पाटीदार नेता का यह भी कहना है कि राम मंदिर के जरिये केंद्र की भाजपा सरकार देश के मुख्य मद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने का काम कर रही है.

यह पहला मौका नहीं है जब उत्तर प्रदेश में शहरों के नाम बदले जाने को लेकर किसी नेता ने वहां की सरकार पर निशाना साधा हो. राज्य सरकार के इस फैसले को लेकर सुहैलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर के अलावा आॅल इंडिया मजसिल-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी भी उसे कटघरे में खड़ा कर चुके हैं. असदुद्दीन आवैसी ने तो पिछले दिनों भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के नाम को ईरानी मूल का बताते हुए उन्हें अपना नाम बदलने की सलाह भी दी थी.