भारतीय टीम विदेशी पिचों पर अपने प्रदर्शन को लेकर हमेशा सवालों के घेरे में रहती है, लेकिन भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री का मानना कुछ और है. अॉस्ट्रेलिया में सीरीज शुरु होने से पहले उन्होंने कहा कि दुनिया भर की ज्यादातर टीमों का प्रदर्शन विदेशों में खराब रहा है, एेसे में सिर्फ भारतीय टीम को ही क्यों निशाना बनाया जा रहा है?

पीटीआई के मुताबिक, रवि शास्त्री ने कहा, ‘आस्ट्रेलिया ने 1990 के दशक और अगले दशक में कुछ समय ऐसा किया. दक्षिण अफ्रीका भी कुछ समय ऐसा करने में सफल रहा. इन दोनों के अलावा पिछले पांच से छह साल में आप बताइये किस टीम ने विदेशी सरजमीं पर अच्छा प्रदर्शन किया. तो फिर भारत का ही नाम क्यों लिया जा रहा है?’

यह पूछने पर कि क्या उन्होंने या कप्तान कोहली ने टीम से बात की कि आखिर क्यों उन्हें दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में हार का सामना करना पड़ा तो शास्त्री ने कहा, ‘हमने बड़े मौकों का फायदा उठाने के बारे में बात की. अगर आप टेस्ट मैचों को देखें तो नतीजा आपको असली कहानी बयां नहीं करता. कुछ बेहद करीबी टेस्ट मैच खेले गए और कुछ बड़े लम्हों को हमने गंवाया जिसके कारण अंत में हमें श्रृंखला गंवानी पड़ी.’ भारत को 2018 में दक्षिण अफ्रीका (1-2) और इंग्लैंड (1-4) के खिलाफ उन्हीं की सरजमीं पर हार का सामना करना पड़ा है. जिसके चलते कोच शास्त्री और कप्तान विराट कोहली को अालोचनाओं का सामना करना पड़ा था.