शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अयोध्या जा रहे हैं. इसी महीने की 24-25 तारीख़ को वे वहां एक बड़े पूजन कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे. इससे पहले उन्होंने इसी रविवार को मुंबई में पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक ली. इसमें नारा दिया, ‘हर हिंदू की यही पुकार, पहले मंदिर फिर सरकार.’

खबरों के मुताबिक मुंबई में हुई बैठक में महाराष्ट्र से बाहर के पार्टी नेता भी शामिल हुए थे. बैठक के बाद आयोजित एक पत्रकार वार्ता में उद्धव ने बताया, ‘अयोध्या में 24 नवंबर को मैं ‘सरयू आरती’ कार्यक्रम में हिस्सा लेने जा रहा हूं. इस दौरान जिन-जिन राज्यों शिवसेना की मौज़ूदगी है वहां इसी तरह का आयोजन किया जाएगा.’ शिवसेना के मुताबिक यह राजनीतिक कार्यक्रम नहीं है बल्कि धार्मिक आयोजन है.

ख़बर के अनुसार शिवसेना प्रमुख की अयोध्या यात्रा के दौरान पार्टी की महिला और युवा इकाईयों के कार्यकर्ता व पदाधिकारी उनके साथ नहीं होंगे. आवाज़ाही और परिवहन संबंधी दिक्क़तों के कारण उन कार्यकर्ताओं से अयोध्या न आने को कहा गया है. ग़ौरतलब है कि उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र और केंद्र में अपनी सहयोगी भारतीय जनता पार्टी पर ‘राम मंदिर निर्माण’ के लिए लगातार दबाव बना और बढ़ा रहे हैं.