सुप्रीम कोर्ट ने आज केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के निदेशक आलोक वर्मा से कहा कि वे इस मामले में केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) की रिपोर्ट पर जल्द से जल्द से जवाब दाखिल करें. सुप्रीम कोर्ट ने साफ किया कि मंगलवार के लिए निर्धारित सुनवाई (जवाब दाखिल नहीं होने की सूरत में) टाली नहीं जाएगी.

पीटीआई की खबर के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पीठ को आलोक वर्मा के वकील गोपाल शंकरनारायणन ने सूचित किया कि सीबीआई निदेशक रजिस्ट्री में अपना जवाब दाखिल नहीं कर सके हैं. इस पर पीठ ने कहा, ‘हम तारीख आगे नहीं बढ़ाएंगे. आप जल्द से जल्द अपना जवाब दाखिल करें. हमें भी जवाब पढ़ना होगा.’ कोर्ट के इस रुख के बाद गोपाल ने कहा कि आज दिन में ही वर्मा का जवाब दाखिल करा दिया जाएगा.

इससे पहले 16 नवम्बर को शीर्ष अदालत सीवीसी की रिपोर्ट को लेकर सीबीआई निदेशक को निर्देश दिया था कि वे सोमवार (यानी आज) तक अपना जवाब सीलबंद लिफाफे में दाखिल करें. पिछली सुनवाई में कोर्ट ने यह भी कहा था कि सीवीसी ने अपनी जांच रिपोर्ट में कुछ ‘बहुत ही प्रतिकूल’ टिप्पणियां की हैं और वह (सुप्रीम कोर्ट) कुछ आरोपों की आगे जांच करना चाहता है जिसके लिए उसे और समय चाहिए.