आॅल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कांग्रेस पर एक गंभीर आरोप लगाया है. एनडीटीवी के मुताबिक मंगलवार को तेलंगाना के निर्मल जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य में एआईएमआईएम की एक रैली को रोकने के लिए कांग्रेस ने उन्हें 25 लाख रुपये की पेशकश की थी. असदुद्दीन ओवैसी का यह भी कहना है, ‘मैं जानता हूं कांग्रेस इसका खंडन करेगी लेकिन मेरे पास इसके पूरे सबूत हैं.’ उन्होंने आगे कहा, ‘मैं अपनी जान दे सकता हूं लेकिन अपने वादों को नहीं बेच सकता. कोई मुझे खरीद नहीं सकता.’

उधर, कांग्रेस ने असदुद्दीन ओवैसी के इस आरोप का खंडन किया है. पार्टी नेता मीम अफजल ने कहा है, ‘असदुद्दीन ओवैसी के पास ऐसा कोई सुबूत नहीं है और न किसी सुबूत की जरूरत ही है क्योंकि वे झूठ बोल रहे हैं. ओवैसी जब भी किसी मुद्दे पर कुछ कहते हैं तो वह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का समर्थन करते हुए होता है. भाजपा का समर्थन करने वाले दलों से भला कांग्रेस क्यों बात करेगी? तेलंगाना में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभर रही है इसीलिए ओवैसी ऐसे आरोप लगा रहे हैं.’

इस बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी असदुद्दीन ओवैसी पर भाजपा की ही तरह समाज को विभाजित करने वाली राजनीति करने का आरोप लगाते हुए निशाना साधा है. राहुल गांधी ने यह भी कहा है कि तेलंगाना राष्ट्र स​मिति (टीआरएस), एआईएमआईएम और भाजपा एक जैसी सोच रखने वाले एक ही थाली के चट्टे-बट्टे हैं.

तेलंगाना विधानसभा चुनाव के मद्देनजर वहां राजनीतिक सरगर्मियां जोरों पर हैं. राज्य में अगले महीने की सात तारीख को मतदान होना है. इसके बाद 11 तारीख को मतगणना के साथ ही नतीजों की घोषणा की जाएगी. उसी दिन चार अन्य राज्यों राजस्थान, मध्य प्रदेश, मिजोरम और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों के नतीजों की घोषणा की जाएगी.