सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के मामले में अमेरिकी खुफिया एजेंसी (सीआईए) के हाथ एक बड़ा सबूत लगने का दावा सामने आया है. द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक तुर्की के एक समाचार पोर्टल ‘हुर्रियत डेली’ ने दावा किया है कि सीआईए के पास एक फोन कॉल की रिकॉर्डिंग है जिसमें सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान यह कहते हुए सुनाई दे रहे हैं, ‘जितनी जल्दी संभव हो जमाल खशोगी को शांत कर दो.’

इस रिपोर्ट में तुर्की के एक जानेमाने पत्रकार का हवाला देते हुए कहा गया है कि सीआईए के निदेशक ने बीते महीने अपनी अंकारा यात्रा के दौरान उनके पास रिकॉर्डिंग होने के संकेत दिए थे. हालांकि रॉयटर्स ने इस संबंध में जब तुर्की के अधिकारियों से संपर्क किया तो उन्होंने इस दावे को गलत करार दिया है.

उधर, सऊदी अरब के विदेश मंत्री अदेल अल जुबेर ने बुधवार को यह रिपोर्ट हास्यास्पद बताते हुए इसे खारिज किया है. न्यूज चैनल सीएनबीसी के एक इंटरव्यू में शाही परिवार के उत्तराधिकारी में बदलाव के विषय पर हो रही चर्चा पर पूछे एक सवाल पर अदेल अल जुबेर ने यह भी कहा है कि ऐसी टिप्पणियां अपमानजनक और पूरी तरह से अस्वीकार्य हैं.