पत्रकार जमाल खशोगी हत्याकांड को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के रवैये की तुर्की ने आलोचना की है. तुर्की ने कहा है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जमाल खशोगी हत्याकांड के प्रति आंखें मूंदना चाह रहे हैं.

शुक्रवार को सीएनएन के तुर्क प्रसारक को दिए गए एक साक्षात्कार में तुर्की के विदेश मंत्री मौलूद जावेश उगलू ने कहा, ‘डोनाल्ड ट्रंप के रवैये को देखकर कहा जा सकता है कि वह एक तरह से कह रहे हो कि मैं अपनी आंखें मूंद लूंगा.’ अमेरिका और सऊदी अरब के बीच होने वाले अरबों डॉलर के हथियार सौदे का जिक्र करते हुए जावेश उगलू का कहना था, ‘यह सही नजरिया नहीं है. पैसा ही सबकुछ नहीं होता है.’

पत्रकार जमाल खशोगी हत्याकांड पर वैश्विक आक्रोश के बाद भी ट्रंप ईरान के खिलाफ अपने महत्वपूर्ण सहयोगी सऊदी अरब का लगातार समर्थन कर रहे हैं. ट्रंप ने मंगलवार को अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के इस निष्कर्ष को भी कोई तवज्जो नहीं दी कि मोहम्मद बिन सलमान ने खशोगी की हत्या की मंजूरी दी थी.

सीआईए के निष्कर्ष को लेकर उनका कहना था, ‘हो सकता है कि सलमान का हत्या में हाथ हो और हो सकता है कि न भी हो.’ ट्रंप के मुताबिक जो भी परिणाम हों, सऊदी अरब और अमेरिका के रिश्तों पर खशोगी हत्याकांड का कोई असर नहीं पड़ेगा.

बीते दो अक्टूबर को जमाल खशोगी की इस्तांबुल स्थित सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में हत्या कर दी गई थी. वह तुर्की निवासी अपनी मंगेतर से शादी के लिए जरूरी दस्तावेज जुटाने के उद्देश्य से वहां गए थे.