भारत की स्टार बॉक्सर मैरी कॉम ने छठवीं बार विश्व बॉक्सिंग चैंपियनशिप का खिताब अपने नाम करके इतिहास रच दिया है. शनिवार को उन्होंने यह उपलब्धि यूक्रेन की हेना ओखोटा पर जीत दर्ज करके हासिल की. इससे पहले मैरी कॉम पांच बार विश्व चैंपियन रहने का रिकॉर्ड आयरलैंड की मुक्केबाज केटी टेलर के साथ साझा कर रही थीं. लेकिन विश्व महिला बॉक्सिंग प्रतियो​गिता - 2018 में 48 किलोग्राम भार वर्ग में हिस्सा लेते हुए मैरी कॉम ने केटी टेलर को पदकों की संख्या के लिहाज से पीछे छोड़ दिया है.

यह पहला मौका है जब महिला वर्ग में किसी बॉक्सर ने छह बार विश्व विजेता के खिताब पर अपना कब्जा जमाया है. इससे पहले मैरी कॉम 2002, 2005, 2006, 2008 और 2010 में विश्व चैंपियन रह चुकी हैं. इसके अलावा 2001 में उन्होंने रजत पदक भी हासिल किया था.

द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक छह बार विश्व चैंपियन रहने का रिकॉर्ड अब मैरी कॉम बॉक्सिंग के पुरुष वर्ग के दिग्गज मुक्केबाज फेलिक्स सावॉन के साथ साझा करेंगी. क्यूबा के फेलिक्स सावॉन पुरुष वर्ग की बॉक्सिंग में छह बार विश्व विजेता रहे थे. इसके अलावा उन्होंने विश्व चैंपियनशिप में एक रजत पदक भी हासिल किया था.